1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तराखंड
  3. IIT रुड़की में एक करोड़ का किया गया हेरफेर, एक कर्मचारी गिरफ्तार…

IIT रुड़की में एक करोड़ का किया गया हेरफेर, एक कर्मचारी गिरफ्तार…

आईआईटी रुड़की से एक ऐसा मामला सामने आया जिसे सुन कर आप भी हैरान हो जाएंगें। बता दें कि आईआईटी में करीब 1 करोड़ रुपए के गबन का मामला सामने आया है, जिसमें आरोपी कर्मचारी को गिरफ्तार कर लिया है। बता दें कि केस दर्ज होने के बाद से वह पिछले लंबे समय से फरार चल रहा था। जिसके लिए पुलिस लगातार तलाश में जुटी थी।

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

रिपोर्ट:पायल जोशी
उतराखंड: आईआईटी रुड़की से एक ऐसा मामला सामने आया जिसे सुन कर आप भी हैरान हो जाएंगें। बता दें कि आईआईटी में करीब 1 करोड़ रुपए के गबन का मामला सामने आया है, जिसमें आरोपी कर्मचारी को गिरफ्तार कर लिया है। बता दें कि केस दर्ज होने के बाद से वह पिछले लंबे समय से फरार चल रहा था। जिसके लिए पुलिस लगातार तलाश में जुटी थी।
आपको बता दें कि आरोपी धीरज कुमार उपाध्याय पटेरहा थाना पडरौना जिला कुशीनगर उत्तर प्रदेश का रहने वाला है। आरोपी पहले भंगेड़ी गांव में रह रहा था, और पुलिस अधिकारियों के मुताबिक आरोपी ने बताया कि वह आईआईटी डीन ऑफिस में सीनियर असिस्टेंट क्लर्क था। 2017 से वह संस्थान का पैसा अपने खाते में ट्रांसफर कर रहा था, और फिलहाल उसके खाते में 20 लाख रुपए जमा है, जिन्हें होल्ड करवा दिया गया है।
11 दिसंबर 2020 को आईआईटी के कर्मचारी प्रशांत गर्ग ने पुलिस को तहरीर देकर बताया था कि उनके संस्थान के एक कर्मचारी धीरज उपाध्याय ने बैंक खातों में धोखाधड़ी कर के 13 बैंक की ट्रांजक्शन के द्वारा एक करोड़ 5 लाख 35 हजार 753 रुपये गबन कर अपने खाते में ट्रांसफर कर लिए थे। इसके बाद तहरीर के आधार पर सिविल लाइन कोतवाली पुलिस ने धारा 409 के तहत आरोपी के खिलाफ केस दर्ज किया था। डीआईजी योगेंद्र सिंह सिविल लाइन कोतवाली पहुंचे और उन्होने बताया कि आरोपी कर्मचारी धीरज कुमार को गिरफ्तार कर लिया गया है।
आपको बता दें कि पहले भी एक ऐसा मामला सामने आ चुका है, जिसमें छात्रवृत्ति घोटाले में एसआईटी की टीम ने त्रिवेणी इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट बागपत के डायरेक्टर को 1.21 करोड़ की छात्रवृत्ति हड़पने के आरोप में गिरफ्तार किया है। बता दें कि एसआईटी टीम मेरठ से गिरफ्तार कर के हरिद्वार पहुंची और आरोपी को सिडकुल थाने में दाखिल करके भेज दिया है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...