1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तराखंड
  3. कोटद्वार: होलिका दहन हुआ,नहीं दिखा कोरोना का असर

कोटद्वार: होलिका दहन हुआ,नहीं दिखा कोरोना का असर

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

{ कोटद्वार से गिरीश तिवारी की रिपोर्ट }

दस मार्च को रंगों के पर्व होली को धूमधाम से मनाया जा रहा है और इससे एक दिन पहले होलिका दहन किया जाता है, जिसे बुराई पर अच्छाई की जीत के रूप में मनाया जाता है। इस दिन लोग अपने अंदर की बुराई को खत्म कर देते हैं।

kotdwar-holika-dahan-did-not-show-the-effect-of-corona

उत्तराखंड के अलग-अलग हिस्सों में विधिवत पूजन के बाद होलिका दहन किया गया। इस मौके पर लोगों ने एक दूसरे को गुलाल का टीका लगाकर होली की बधाई दी।

रंगों के त्योहार होली की तैयारियां कई दिन पहले से हो जाती है, लेकिन इसे मुख्यत: दो दिन मनाया जाता है। पहले दिन होलिका दहन किया जाता है और उसके अगले दिन रंग खेला जाता है। उत्तराखंड के अलग हिस्सों में विधिवत पूजन के बाद होलिका दहन किया गया

kotdwar-holika-dahan-did-not-show-the-effect-of-corona

कोटद्वार में झंडा चौक चौराहे पर होलिका दहन किया गया। इस मौके पर लोगों ने एक दूसरे को गुलाल का टीका लगाकर होली की बधाई दी।

kotdwar-holika-dahan-did-not-show-the-effect-of-corona

स्थानीय लोगों का कहना है कि हम लोग होली पर्व को बहुत प्यार और धूमधाम से मना रहे हैं और यहां पर कोरोना वायरस का असर नहीं देखा जा रहा है सब एक दूसरे से बड़े सौहार्द और प्यार से मिलकर होली मना रहे हैं !

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...