1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तराखंड
  3. शाही स्नान करने आये महान संतो से की डीएम दीपक रावत ने मुलाक़ात, जानी कई सारी बात

शाही स्नान करने आये महान संतो से की डीएम दीपक रावत ने मुलाक़ात, जानी कई सारी बात

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

रिपोर्ट: नंदनी तोदी
हरिद्वार: उत्तराखंड के हरिद्वार में आयोजित महाकुम्भ का आगाज़ 1 अप्रैल से हो गया है। इस एक महीने तक चलने वाले कुंभ मेले में जाने के लिए सभी श्रद्धालुओं को 72 घंटे पहले की कोरोना नेगेटिव रिपोर्ट दिखानी अनिवार्य है।

कुंभ मेला दुनिया का सबसे बड़ा धार्मिक कार्यक्रम है। भारत में हर 12वें वर्ष हरिद्वार, प्रयागराज, उज्जैन और नासिक में बारी-बारी इसका आयोजन किया जाता है। हालांकि, कुंभ मेले के इतिहास में पहली बार हरिद्वार में यह 12 साल की बजाय 11वें साल में आयोजित हुआ है।

इसी बीच सबसे चर्चित और नामी चेहरा, हरिद्वार के डीएम, दीपक रावत जिन्हे कुंभ मेला अधकारी का प्रभार भी दिया गया है, इस कार्यक्रम में आये श्रद्धालुओं और बाबों से मिलने गए और उनसे विभिन्न प्रकार की बातें भी की है। डीएम दीपक रावत एक ऐसे तपस्वी बाबा से मिले जिन्होंने अपना एक हाथ पिछले एक साल से खड़ा रखा है। इतना ही कठोर तपस्वी बाबा ने ये संकल्प 12 सालों के लिए लिया है।

इसके अलावा दीपक रावत एक ऐसे बाबा से भी मिले जिन्होंने 11000 रुद्राक्ष की माला धारण की हुई है।

आपको बता दें, इस वर्ष कोरोना महामारी के चलते उत्तराखंड सरकार ने 12 राज्यों से आने वाले लोगों के लिए आरटी-पीसीआर रिपोर्ट अनिवार्य कर दिया है। बता दें, ये रिपोर्ट 72 घंटे से अधिक पुरानी नहीं होनी चाहिए।

मुख्य सचिव ओम प्रकाश ने परामर्श जारी करते हुए कहा कि यह नियम महाराष्ट्र, केरल, पंजाब, कर्नाटक, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, तमिलनाडु, गुजरात, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, दिल्ली और राजस्थान से सड़क, हवाई मार्ग और रेलगाड़ियों से आने वाले लोगों पर एक अप्रैल से लागू हो गई है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...