1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तराखंड
  3. स्वास्थ्य मंत्री की तरफ से बाढ़ प्रभावितो के लिए बडी खबर, भेजी राहत सामाग्री।

स्वास्थ्य मंत्री की तरफ से बाढ़ प्रभावितो के लिए बडी खबर, भेजी राहत सामाग्री।

पिछले हफते उत्तराखंड मे हुई भारी बारिश के चलते काफी नुकसान हुआ, साथ ही आम जनता का जीना मुहाल हो गया। जिसके चलते मुशकिले अभी भी बरकरार हैं स्थिती अभी भी सामान्य नही है। जिसको मद्दे नज़र रखते हुए स्वास्थ्य मंत्री ने बाढ़ प्रभावित उत्तराखंड के लिए राहत सामग्री को झंडी दिखाकर रवाना किया है।

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

रिपोर्ट: अनुष्का सिंह

नई दिल्ली: पिछले हफते उत्तराखंड मे हुई भारी बारिश के चलते काफी नुकसान हुआ, साथ ही आम जनता का जीना मुहाल हो गया। जिसके चलते मुशकिले अभी भी बरकरार हैं स्थिती अभी भी सामान्य नही है। जिसको मद्दे नज़र रखते हुए स्वास्थ्य मंत्री ने बाढ़ प्रभावित उत्तराखंड के लिए राहत सामग्री को झंडी दिखाकर रवाना किया है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने शुक्रवार को जम्मू, श्रीनगर, लद्दाख और उत्तराखंड के लोगों के लिए बाढ़ और ठंड से राहत सामग्री और दवाएं ले जा रहे तीन भारतीय रेड क्रॉस ट्रकों को हरी झंडी दिखा कर रवाना किया है। जिसके बाद मंडाविया ने एक ट्वीट में कहा कि, “यह सर्दियों के मौसम के लिए सबसे उत्तरी केंद्र शासित प्रदेशों में कमजोर आबादी का समर्थन करेगा और उत्तराखंड के लोगों को बाढ़ राहत प्रदान करेगा।”

बता दे कि यह ध्वजारोहण समारोह नई दिल्ली के निर्माण भवन में आयोजित किया गया था। कंबल के साथ, उत्तराखंड को आपूर्ति में मच्छरदानी, रसोई सेट, टेंट और प्रधान मंत्री जन औषधि केंद्रों से आवश्यक दवाएं शामिल कर भेजी गई हैं।

आपूर्ति को हरी झंडी दिखाते हुए, श्री मंडाविया ने कहा, “रेड क्रॉस आपदाओं और अन्य संकट स्थितियों के समय में सबसे कमजोर और जरूरतमंदों की सहायता करता है।” उन्होंने कहा कि गंभीर बाढ़ से प्रभावित लोगों को पहले से ही स्थानीय रेड क्रॉस शाखाओं द्वारा सहायता प्रदान की जा रही है। राष्ट्रीय मुख्यालय ताजा आपूर्ति भेजकर उनके प्रयासों को पूरा कर रहा है।

साथ ही केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि संवेदनशील राज्यों द्वारा उपयोग के लिए राहत सामग्री की तैयारी प्रक्रियाधीन है। इन वस्तुओं में अन्य चीजों के अलावा एक लाख कंबल, एक लाख स्वच्छता किट, एक लाख तिरपाल और 75,000 रसोई सेट शामिल हैं। जिसके बाद केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने आगे कहा कि हाल ही में उत्तराखंड में भूस्खलन और अचानक आई बाढ़ ने राज्य को बुरी तरह प्रभावित किया है। “राज्य सरकार के प्रयासों को पूरा करने के लिए, तीन ट्रक राहत सामग्री उत्तराखंड भेजी गई है। इसके अलावा, स्वास्थ्य मंत्रालय ने पीड़ित आबादी के लिए दवाएं भी भेजी हैं। पहाड़ी राज्यों में सर्दियों के महीनों में भीषण ठंड का अनुभव होता है। कंबल हैं पहले से तैनात किया जा रहा है ताकि किसी भी संकट की घड़ी में प्रभावित लोगों की तुरंत मदद की जा सके।”

बता दे कि हाल के दिनों में हुई भारी बारिश ने उत्तराखंड में कई लोगों की जान ले ली है। राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (एनडीआरएफ) ने राज्य के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों से 300 से अधिक लोगों को बचाया है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...