1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तराखंड
  3. महाकुंभ 2021: स्विट्जरलैंड से पैदल कुंभ स्नान करने पहुंचे बेन बाबा, लग्जरी जिंदगी छोड़ अपनाया अध्यात्म

महाकुंभ 2021: स्विट्जरलैंड से पैदल कुंभ स्नान करने पहुंचे बेन बाबा, लग्जरी जिंदगी छोड़ अपनाया अध्यात्म

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

रिपोर्ट: नंदनी तोदी
देहरादून: उत्तराखंड के हिरद्वार में होने वाले महाकुम्भ की तैयारी तेज़ हो गई है। कुम्भ नगरी इस समय आस्था, धर्म, श्रद्धा और अध्यात्म से भरपूर है। हरिद्वार की पवित्रता के चलते दूर दर्ज से संतो का उल्लास देखने को मिल रहा है। इसी बीच एक ऐसे बाबा भी हरिद्वार पहुंचे हैं, जिसे देख साफ़ कहा जा सकता है कि शान्ति की तलाश हरिद्वार में पूर्ण होती है।

दरअसल, एक बाबा स्विट्जरलैंड से हरिद्वार पहुंचे है। जिनका नाम बेन बाबा है। ये तकरीबन हजारों किलोमीटर दूर पैदल चलकर धर्मनगरी हरिद्वार पहुंचे हैं।

बता दें, स्विट्जरलैंड के ये बेन बाबा साढ़े छह हजार किलोमीटर पैदल चलकर कुम्भ मेले में हिस्सा लेने हरिद्वार पहुंचे है। उन्होंने, यूरोप से टर्की, ईरान, आर्मेनिया, जॉर्जिया, रशिया, किर्गिस्तान, उज्बेकिस्तान, कजाकिस्तान, चीन और पाकिस्तान समेत 18 देशों को पार कर पांच साल लग गए हैं।

मीडिया से बातचीत में बाबा ने बताया की, जब भी वो जिस देश में पहुंचते थे और जो भी बॉर्डर आने वाला होता था, वो उसके लिए पहले ही वीजा अप्लाई कर देते थे। बाबा कहते है कि उन्होंने भारतीय संस्कृति और योग के बारे में पढ़ा, इसके साथ ही आध्यात्मिक पथ पर आगे बढ़ने के लिए स्विट्जरलैंड छोड़ दिया।

बाबा ने बताया की यहां तक पहुंचने के सफर में जिसने जो खाने को दिया वो हो उन्होंने खाया। उसे खाकर पेट भरते हैं।

दिलचस्प बात तो ये है कि बेन बाबा की लाइफस्टाइल काफी अच्छी है, बहुत अच्छी हिंदी भी बोलते हैं, गायत्री मंत्र और गंगा आरती भी याद है। उनकी उम्र सिर्फ 33 साल है, पेशे से वे वेब डिजाइनर हैं, स्विट्जरलैंड में हर घंटे लगभग, 10 यूरो भी कमाते हैं।

बेन बाबा उत्तराखंड पहुंचने के लिए कभी हरकी पैड़ी गए तो कभी गंगा किनारे मिले। उनकी आस्था इतनी सच्ची है वे नंगे पैर ही घूमते रहते थे। बेन बाबा हिमाचल के कांगड़ा से 25 दिन पैदल चलकर हरिद्वार पहुंचे हैं।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...