1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. विकास प्राधिकरण की बैठक के दौरान कार्यकर्ताओं का फूटा गुस्सा

विकास प्राधिकरण की बैठक के दौरान कार्यकर्ताओं का फूटा गुस्सा

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

कुशीनगर में विशेष विकास प्राधिकरण की बैठक के दौरान कैबिनेट मंत्री सूर्य प्रताप शाही की मौजूदगी में बीजेपी कार्यकर्ताओं का गुस्सा फूट गया. जिला अध्यक्ष प्रेम चन्द मिश्र की आगुवाई में बीजेपी कार्यकर्ताओं ने कैबिनेट मंत्री सूर्य प्रताप शाही के सामने जिलाधिकारी को खरी खोटी सुनाते हुए बीजेपी के जनप्रतिनिधिओं और कार्यकर्ताओं की आनदेखी करने का आरोप लगाया. दरअसल बीजेपी कार्यकर्ता गत दिनों कुशीनगर इंटरनेशनल एयरपोर्ट की टर्मिनल बिल्डिंग के भूमिपूजन कार्यकम और कुशीनगर विशेष विकास प्रधिकरण की बैठक में आमंत्रित नहीं किये जाने से नाराज थे. कार्यकर्ताओं का कहना था कि जिला प्रशासन सरकार की विकास योजनाओं की बैठकों से जनप्रतिनिधियों को दूर रखकर अपनी मनमानी कर रहा है  जो किसी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जायेगा. बैठक के दौरान हंगामे की बात को नकारते हुए गोरखपुर के कमीश्नर जयंत नार्लीकर ने पूरे मामले की जांच कराने और दोषियों पर कार्रवाई करने की बात कही. कुशीनगर स्थित एक निजी होटल में कैबिनेट मंत्री सूर्य प्रताप शाही और गोरखपुर के कमीश्नर जयंत नार्लीकर की मौजूदगी में कुशीनगर विशेष विकास प्राधिकरण की बैठक चल रही थी. बैठक के दौरान बिजेपी जिलाध्यक्ष प्रेम चन्द्र मिश्र की अगुवाई में दर्जनों कार्यकर्ता पहुंचकर हंगामा करने लगे. बीजेपी कार्यकर्ताओं के हंगामे को देखते हुए कसाडा की बैठक को तय समय से पहले की खत्म कर दिया गया. कार्यकर्ता जिला प्रशासन पर विकास कार्यक्रमों की बैठकों और शिलान्यास कार्यक्रम के किसी जनप्रतिनिधि या कार्यकर्ता को आमंत्रित नहीं करने का आरोप लगा रहे थे. आपको बता दें की गत दिनों कुशीनगर इंटरनेशनल एअरपोर्ट के लिए नये टर्मिनल बिल्डिंग के लिए भूमिपूजन और शिलान्यास कार्यक्रम रखा गया था, जिसमें किसी जनप्रतिनिधी को नहीं बुलाया गया था. इतना ही नहीं प्रशासन द्वारा कसाडा की बैठक में भी किसी भी स्थानीय जनप्रतिनिधी या कार्यकर्ता को बैठक में नहीं बुलाया था जिससे कार्यकर्ता गुस्सा थे. बैठक के दौरान ही बीजेपी जिलाध्यक्ष खुद पहुंचे और हंगामा करने लगे. आनन-फानन में बैठक खत्म करा गया. वहीं बीजेपी कार्यकर्ताओं के हंगामे के बारे में जब गोरखपुर कमीश्नर जयंत नार्लीकर से पूछा गया तो उन्होने कहा कि हंगामा बैठक के बाद हुआ है. कसा़डा की बैठक और एअरपोर्ट के टर्मिनल बिल्डिंग के भूमिपूजन में किसी जनप्रतिनिधी को नहीं बुलाये जाने के सवाल पर उन्होने कहा कि इस मामले की जांच कराई जायेगी और जो दोषी होगा उस पर कार्रवाई की जायेगी.

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...