1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. विकास दुबे केस: कानपुर एनकाउंटर की रात जानिए क्या कैसे हुआ, SSP और पुलिसकर्मियों के बीच बातचीत का ऑडियो वायरल

विकास दुबे केस: कानपुर एनकाउंटर की रात जानिए क्या कैसे हुआ, SSP और पुलिसकर्मियों के बीच बातचीत का ऑडियो वायरल

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

सीओ को कहां छोड़ आए, तुम डर के भाग आए, सीओ का फोन कहा है। साहब मैं डर कर भागा नहीं यहां पर गोली चल रही है। सिपाही अजय के पेट में गोली लगी है। मैं उसे निकालकर लाया हूं।
कुछ इस तरह की बातचीत के कई ऑडियो वायरल हुए हैं। ये कानपुर के पूर्व एसएसपी दिनेश कुमार पी, शहीद सीओ देवेन्द्र मिश्रा और पूर्व एसओ विनय तिवारी के बीच बातचीत के ऑडियो क्लिप बताए जा रहे हैं। यह सभी ऑडियो दो जुलाई की रात के हैं। जब विकास दुबे अपने साथियों के साथ उसे पकड़नेे गई पुलिस टीम पर हमला कर रहा था। इसमें दो क्लिप पूर्व एसओ और एसएसपी के बीच और एक क्लिप शहीद सीओ और एसएसपी के बीच बातचीत की है।  वहीं एक क्लिप किसी अन्य अधिकारी और शहीद सीओ के साथ रहने वाले सिपाही के बीच बातचीत की है।

ऑडियो-1 
एसएपी बोले, ठहरों मैं आ रहा हूं
इस ऑडियो क्लिप में पूर्व एसएसपी और पूर्व एसओ के बीच बातचीत है। जिसमें एसओ बता रहा है कि सीओ का मोबाइल गाड़ी में छूट गया है। साथ ही वह यह जानकारी दे रहा है कि सीओ गांव के अंदर कहीं रह गए हैं। इसके अलावा एसओ शिवराजपुर को गोली लगी है। इसपर पूर्व एसएसपी ने कहा कि तुम सीओ को कहां छोड़ आए। उनका फोन भी नहीं लग रहा है। तुम डर कर भाग आए। इसपर एसओ कह रहा है कि नहीं साहब अजय सिपाही को गोली लगी है उसे लेकर आए हैं। इसपर एसएसपी ने कहा कितना फोर्स ले गए थे। तो एसओ ने बताया कि 1 सीओ, तीन एसओ 40-50 पुलिस कर्मी है। तब एसएसपी कहते हैं मैं आ रहा हूं

ऑडियो-2
फोर्स को अलग-अलग रास्तों से बुलाओ
दूसरी बातचीत भी पूर्व एसओ और पूर्व एसएसपी के बीच की है। जिसमें एसओ से एसएसपी पूछ रहे हैं कि गैंगस्टर का नाम क्या है। उसके बाद वह एसओ को निर्देश दे रहे हैं कि फोर्स को अलग अलग रास्तों से बुलाओ। विकास दुबे किसी भी सूरत में गांव से बाहर नहीं निकलना चाहिए। प्रधान की मदद लो। इस पर एसओ कह रहा है कि प्रधान उसी का भाई है। साहब पीएसी को भी कह दीजिए। तब एसएसपी गुस्से में कहते हैं कि मैं खुद आ रहा हूं तो पीएसी आएगी ही। तुम पर वह फायर कर रहा है तो तुम क्यों शांत हो जवाब में फायर करो।

ऑडियो-3
एसओ डरपोक है क्या
तीसरी बातचीत का क्लिप शहीद सीओ और पूर्व एसएसपी की बातचीत में सीओ एसएसपी को बता रहे हैं कि एसओ ने उन्हें बिकरू गांव में विकास दुबे के यहां दबिश डालने के लिए बुलाया है। एसओ ने उनसे कहा है कि बिना उनके वह दबिश देने नहीं जाएगा। इसपर एसएसपी कह रहे हैं कि क्या एसओ डरपोक है। तो सीओ ने कहा कि डरपोक क्या साहब वह(एसओ) उसके(विकास दुबे) पैर छूता है। फिर सीओ कहते हैं आप समय दें मैं आपको बताऊंगा। इस पर एसएसपी ने कहा कि गोपनीय रिपोर्ट बनाकर दें। मैं देखता हूं।

ऑडियो-4
सीओ साहब अंदर फंसे हैं
इस क्लिप में शहीद सीओ के साथ रहने वाला एक सिपाही किसी अन्य अधिकारी को जानकारी दे रहा है कि साहब यहां गोलियां चल रही है और सीओ साहब अंदर फंसे हैं। तीन सिपाहियों की मौत हो गई है। 40-50 राउंड गोलियां चल गई है। इसपर अधिकारी कह रहे हैं कि क्या किसी और थाने से फोर्स नहीं बुलवाई। उसके बाद फोन काट देते हैं।

 

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...