1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. PWD इंजीनियर को हटाने को लेकर भाजपा में रार, सांसद के बाद कई विधायकों ने लिखी चिट्ठी

PWD इंजीनियर को हटाने को लेकर भाजपा में रार, सांसद के बाद कई विधायकों ने लिखी चिट्ठी

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

पीडब्‍लूडी के असिस्‍टेंट इंजीनियर केके सिंह को गोरखपुर से हटाकर मुख्यालय से सम्‍बद्ध किए जाने के मामले ने पकड़ा तूल पकड़़ लिया है। चार दिन पहले गोरखपुर से विधायक डा.राधा मोहन दास अग्रवाल ने डिप्‍टी सीएम और पीडब्‍लूडी विभाग के मंत्री केशव मौर्य से मिलकर इंजीनियर की शिकायत की थी। इस पर इंजीनियर को मुख्‍यालय से सम्‍बद्ध कर दिया गया था। लेकिन दो दिन पहले सांसद रविकिशन ने डिप्‍टी सीएम को चिट्ठी लिख इंजीनियर को मेहनती,ईमानदार और जानकार बताते हुए प्रोजेक्‍ट पूरा होने तक न हटाने की मांग की तो अब गोरखपुर ग्रामीण क्षेत्र से विधायक विपिन सिंह और पिपराइच से विधायक महेन्‍द्र पाल सिंह ने उप मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर कहा है कि गोरखपुर के विकास के लिए केके सिंह की जरूरत है। उनकी संबद्धता खत्म की जाए।

अपनी ही पार्टी के कई विधायकों की चिट्ठी सामने आने के बाद विधायक डा.राधा मोहन दास अग्रवाल ने एक बार फिर ट्वीट कर इसका जवाब दिया। उन्‍होंने लिखा कि अब निर्णय सरकार और आंकलन जनता पर है। डॉ.अग्रवाल ने डिप्‍टी सीएम से मिलकर कहा था कि के.के.सिंह की गलत कार्यप्रणाली के चलते गोरखपुर-देवरिया मार्ग के किनारे स्थित कालोनियों और मोहल्लों में जलजमाव हो गया है। दो दिन बाद सांसद रवि किशन ने डिप्टी सीएम को पत्र लिखकर कहा कि गोरखपुर-देवरिया मार्ग ऊंचा कर दिए जाने से हादसे कम हो गए हैं। सांसद ने कहा था कि केके सिंह को परियोजनाओं की जानकारी है, उनको हटाए जाने से काम में देरी होगी।

अभी यह बात चल ही रही थी कि केके सिंह की संबद्धता रद्द करने के लिए विधायक विपिन सिंह, महेंद्र पाल सिंह और शीतल पांडेय के नाम से डिप्टी सीएम को लिखे पत्र मंगलवार को वायरल होने लगे। ‘हिन्दुस्तान’ से विधायक महेंद्र पाल सिंह ने कहा कि केके सिंह कर्मठ और मेहनती हैं। उनका सहयोग गोरखपुर के विकास के लिए जरूरी है। वहीं ग्रामीण विधायक विपिन सिंह ने भी कहा कि उन्होंने डिप्टी सीएम को पत्र लिखकर कहा है कि केके सिंह की सम्बद्धता खत्म की जाए ताकि वह गोरखपुर के विकास में अपना योगदान दे सकें। हालांकि सहजनवा से विधायक शीतल पांडेय ने ऐसे किसी पत्र के लिखे जाने से इनकार कर दिया।

जहां तक मेरी जानकारी है, वह बहुत मेहनती हैं। हमारे क्षेत्र में भी उन्होंने काम किया है। अच्छे अधिकारी हैं। गुणवत्ता को लेकर सतर्क रहते हैं। उन्हें बहुत अच्छी जानकारी है। उनके बारे में जो जानता हूं वहीं लिखा हूं। मैंने यह भी कहा है कि ऐसे अच्छे अधिकारी मेरे क्षेत्र में रहने चाहिए।
विपिन सिंह, विधायक, गोरखपुर ग्रामीण

मैंने डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य को पत्र लिखा है। कहा है कि केके सिंह मेहनती इंजीनियर हैं। उनका गोरखपुर के विकास में सहयोग मिलना चाहिए।
महेंद्र पाल सिंह, विधायक, पिपराइच

नगर विधायक होने के नाते नागरिकों की समस्याओं के लिए स्टैंड लेना हमारी जिम्मेदारी है। हमने जो महसूस किया वह विधानसभा को बता दिया। सरकार जनता के हित में जो उचित समझेगी निर्णय लेगी। यह मेरा कोई निजी मामला नहीं है। सांसद रविकिशन का पत्र तो समझ में आया क्योंकि वे भी उसी क्षेत्र के सांसद हैं। लेकिन, पिपराइच और ग्रामीण के विधायकगण का बोलना समझ के परे हैं। निर्णय का दायित्व सरकार और विश्लेषण का दायित्व जनता पर छोड़ता हूं।
डॉ. आरएमडी अग्रवाल, नगर विधायक

 

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...