1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. UP: सरकारी स्कूल की हालत खराब, पढ़ने की बजाए बच्चे करते हैं सफाई

UP: सरकारी स्कूल की हालत खराब, पढ़ने की बजाए बच्चे करते हैं सफाई

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

उत्तर प्रदेश के सराकरी स्कूलों को देखकर लगता है सरकार अभी इसपर सख्त नहीं हुई है। एक बार फिर यूपी का सरकारी स्कूल चर्चा का विषय बना है।

दरअसल, कासगंज में सरकारी स्कूलों की हालत बेहद ही खराब है। जहां एक तरफ प्रदेश सरकार बच्चों के उज्ज्वल भविष्य के लिए कई योजनाएं के जरिए अच्छी शिक्षा देने का दावा करती है तो वहीं दूसरी तरफ सरकारी स्कूलों की  स्थिति इतनी खराब है कि बच्चों का भविष्य काले अंधेरे में जाता हुआ साफ नज़र आ रहा है।

साथ ही साथ स्कूल में किसी भी चीज की कोई सुविधा नहीं है, ना स्कूल में अध्यापक आते हैं, और कभी–कभी आ भी जाती हैं तो क्लास रूम तक नहीं पहुंच पाते। मतलब यह है कि बच्चों को पढ़ाने के लिए कोई भी अध्यापक नहीं आते है।

स्कूली बच्चों का कहना है कि स्कूल में सफाई कर्मचारी नहीं है औप उन्हें खुद ही सफाई करना पड़ता है। यहां तक की बच्चों को सरकार की तरफ से स्कूल से दी जाने वाली सुविधा भी नहीं मिलती है।

इसके साथ ही स्कूल के पास में रहने वाले एक व्यक्ति ने बताया कि स्कूल में बच्चे बस खेलने या फिर टाइम पास करने आते हैं। ना तो कोई टीचर स्कूल में आते हैं और ना ही ठीक से पढ़ई होती है। बस महीने की सैलरी लेने के लिए अध्यापक समय पर स्कूल आ जाते हैं।

आपको बता दें कि जहां यूपी सरकार स्कूलों को बेहतर बनाने का दावा करती है तो वहीं दूसरी तरफ स्कूलों की ऐसी स्थिति देखकर बच्चों का भविष्य संकट में लगाता है। प्रदेश में कई योजनाएं ऐसी हैं जो शिक्षा को बेहतर बनाने के लिए बनाई गई है। लेकिन सरकार का दावा झूठा साबित होता नजर आ रहा है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...