1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की कल्याणकारी योजनाओं, पढ़ें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की कल्याणकारी योजनाओं, पढ़ें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की कल्याणकारी योजनाओं के प्रभावी क्रियान्वयन की बदौलत ‘नया इतिहास’ रचते हुए करीब तीन दशकों बाद उत्तर प्रदेश में निवर्तमान सरकार की सत्ता में वापसी हुई है। वहीं अगर बात प्रदेश की राजधानी यानी लखनऊ की करें तो यहां बीजेपी का प्रदर्शन शानदार रहा है...

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

रिपोर्ट: अनुज कुमार

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की कल्याणकारी योजनाओं के प्रभावी क्रियान्वयन की बदौलत ‘नया इतिहास’ रचते हुए करीब तीन दशकों बाद उत्तर प्रदेश में निवर्तमान सरकार की सत्ता में वापसी हुई है। वहीं अगर बात प्रदेश की राजधानी यानी लखनऊ की करें तो यहां बीजेपी का प्रदर्शन शानदार रहा है…

साल 2012 में राजधानी लखनऊ को एक नई विधानसभा सीट मिली थी. जिसका नाम पड़ा लखनऊ उत्तरी। इस सीट पर पहले चुनाव में तो समाजवादी पार्टी ने कब्जा किया लेकिन 2017 में चली मोदी लहर में इस सीट पर बीजेपी का कब्जा हुआ,एक बार फिर 2022 के विधानसभा चुनाव उत्तरी विधानसभा से भजपा के डॉ नीरज बोरा पर भरोसा जताया और समाजवादी पार्टी की पूजा शुक्ला के बीच कांटे की टक्कर सुबह से ही चल रही थी,आखिरी के कुछ राउंड में नीरज बोरा ने अच्छी वापसी की और 33953 वोटों के अंतर से जीत दर्ज की,इसके अलावा बसपा के मोहम्मद सरवर मलिक, कांग्रेस के अजय श्रीवास्तव उर्फ अज्जू भी मैदान में थे..

उत्तर विधानसभा सीट से भाजपा प्रत्याशी डॉ. नीरज बोरा की जीत का जश्न का मनाया गया, अलीगंज, फैजुल्लागंज, डालीगंज समेत अन्य इलाकों में समर्थकों ने जमकर आतिशबाजी की, मिठाई बांटकर खुशी का इजहार किया। भाजपा प्रत्याशी डा.नीरज बोरा ने जीत के बाद जय श्री श्याम की पट्टीका और टोपी को धारण किया। विजय से उत्साहित भाजपा प्रत्याशी डा.नीरज बोरा ने कहा कि मैं क्षेत्र के जनता का ऋणी हूं, जो मुझे सही समझा और दोबारा जीताकर मौका दिया,मेरा पूरा प्रयास होगा कि क्षेत्र की जनता का हर एक कार्य हो। क्षेत्र की जनता के हर कार्य के लिए उपस्थित रहूंगा।

हालांकि, 2017 विधानसभा चुनाव की तुलना में इस बार बीजेपी को लखनऊ में थोड़ा नुकसान हुआ है। लखनऊ में कुल 9 विधानसभा सीटें हैं। यहां 7 सीटों पर बीजेपी ने जीत दर्ज की है। वहीं दो सीटों पर समाजवादी पार्टी को जीत मिली है। बसपा और कांग्रेस का यहां खाता भी नहीं खुल सका।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...