1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. खुद जख़्मी हालत मे होने के बावजूद अपने बेटे को अलग नहीं कर पा रही थी मां, पढ़कर कांप जायेगी रूह…

खुद जख़्मी हालत मे होने के बावजूद अपने बेटे को अलग नहीं कर पा रही थी मां, पढ़कर कांप जायेगी रूह…

By Amit ranjan 
Updated Date

नई दिल्ली : “इसका ध्यान रखना, मुझसे इसे अलग मत करना” ये कहना है एक मां का, जो तो खुद मौत और जिंदगी की लड़ाई लड़ रही थी, लेकिन वो खुद को अपने बेटे से अलग नहीं कर पा रहीं थीं। जिसे उसने कलेजे से लगा रखा था। वह अपने जिगर के टुकड़े को अपने सीने से लगाए स्ट्रेचर पर पड़ी हुई थी। जब अस्पताल का नर्सिंग स्टाफ़ बच्चे को ले जा रहा था तो वह मां कहती है, “इसका ध्यान रखना, मुझसे इसे अलग मत करना।”

आपको बता दें कि ये पूरा दृश्य तब उत्पन्न हुआ जब शनिवार को अलीगढ़ के लोधा जिले में एक बस दुर्घटना ग्रस्त हुई। बता दें, यह सड़क दुर्घटना दोपहर 12 बजे की है। हसायन की रहने वाली सपना अपने तीन बेटों संग बस में सवार थी। वह और उसके तीनों बेटे दुर्घटना में जख़्मी हो गए। जब उन्हें अस्पताल लाया गया तो सपना ने अपने सबसे छोटे बेटे शौर्य को अपने कलेजे से चिपका लिया था। जब उसे एंबुलेंस से उतारकर स्ट्रेचर पर लिटाया गया तब भी उसने अपने बेटे को छोड़ा नहीं और उसी तरह कलेजे से लगाए रही।

दरअसल, जो बस अलीगढ़ से जा रही थी, उसका टाय़र फट गया था जिसके चलते बस अनिंयत्रित हो गई और चालक के पेट में स्टेयरिंग घुस गई। वह बुरी तरह जख़्मी हुआ है। वहीं दूसरी ओर,  इस दुर्घटना के बाद पलवल से आती बस का चालक गायब है। माना जा रहा है कि वह दुर्घटना के दौरान बस से कूदकर भाग गया होगा। फ़िलहाल पुलिस बस नंबर के आधार पर चालक की पहचान करने की कोशिश कर रही है। वहीं खबरों की मानें तो उन्होंने पलवल की ओर से आने वाले बस चालक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...