1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. Kanpur Metro: सीएम योगी ने दी कानपुर को बड़ी सौगात, मेट्रो ट्रेन के ट्रायल रन को दिखाई हरी झंडी; जानें खासियत

Kanpur Metro: सीएम योगी ने दी कानपुर को बड़ी सौगात, मेट्रो ट्रेन के ट्रायल रन को दिखाई हरी झंडी; जानें खासियत

Kanpur Metro: CM Yogi gave a big gift to Kanpur; उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले सीएम योगी ने दी कानपुर को बड़ी सौगात। सीएम योगी ने दिखाई मेट्रो ट्रेन के ट्रायल रन को हरी झंडी। 6 हफ्ते में होगी मेट्रो की सुविधा उपलब्ध।

By Amit ranjan 
Updated Date

नई दिल्ली : उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कानपुर को बड़ी सौगात दी है। जिससे अब वहां रहने वाले लोगों का आना-जाना काफी सुगम हो जाएगा। आपको बता दें कि सीएम योगी ने मेट्रो ट्रेन के ट्रायल रन को हरी झंडी दिखाई है। उन्होंने कहा कि अपने तय वक्त से पहले कानपुर के मेट्रो का ट्रायल रन शुरू हो रहा है। 6 हफ्ते में मेट्रो सुविधा आपके लिए होगी। कानपुर अब असल में मेट्रो संपन्न नगरी हो गई है।

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि 15 नवंबर 2019 को कानपुर मेट्रो का काम शुरू हुआ था। पिछले 19 महीने से दुनिया कोरोना का सामना कर रही है। ऐसे में यूपीएमआरसी ने जो उपलब्धि हासिल की है वो बेहतरीन है। घनी आबादी से मेट्रो गुजरेगी। कानपुर वासियों को बेहतरीन सुविधा होगी और प्रदूषण भी कम होगा। उन्होंने कहा कि ये केंद्र और राज्य द्वारा संचालित व्यवस्था है।

सीएम योगी ने कहा कि अगले 6 हफ्तों में ट्रायल रन पूरा होगा और पीएम नरेंद्र मोदी के हाथों से कानपुर वासियों को ये सुविधा प्राप्त हो सकेगी। मेट्रो की पूरी टीम को हार्दिक बधाई, भारत सरकार का बहुत धन्यवाद। बता दें कि नोएडा, गाज़ियाबाद और लखनऊ के बाद कानपुर यूपी का चौथा मेट्रो सिटी बनेगा। 31 दिसंबर से मेट्रो दौड़ेगी।

महज 2 साल में कानपुर मेट्रो को शुरू किया जा रहा है

बता दें कि कानपुर में मेट्रो के पहले फेज में 9 किलोमीटर के इलाके में मेट्रो को चलाया जाएगा। मेट्रो की प्राथमिकता वाले इस कॉरिडोर में आईआईटी से लेकर मोतीझील तक का सफर किया जा सकेगा। आधुनिक तकनीक के माध्यम से रिकॉर्ड टाइम में महज 2 साल में कानपुर मेट्रो को शुरू किया जा रहा है।

जानिए क्या है कानपुर मेट्रो की खासियत

कानपुर मेट्रो का निर्माण बहुत तेजी के साथ किया गया है। इसके लिए देश में पहली बार डबल टी गार्डर का इस्तेमाल किया गया, जिसकी वजह से स्टेशनों का पहला फ्लोर बहुत तेजी से बना। इतना ही नहीं, निर्माण कार्य के दौरान शहर की व्यस्त सड़कों पर भी जाम की नौबत नहीं आई। कानपुर मेट्रो ट्रेन में सैनिटाइजेशन की खास व्यवस्था की गई है। इसमें एक खास तकनीक का इस्तेमाल किया गया है, जिसकी मदद से सिर्फ आधे घंटे में ही पूरी मेट्रो को सैनिटाइज किया जा सकेगा। पूरी प्रक्रिया रिमोट कंट्रोल से संचालित होगी और इस पर खर्च भी बेहद कम आएगा।

मेट्रो में कितने यात्री करेंगे सफर

कानपुर मेट्रों स्टेशनों पर शहर और जिले की ऐतिहासिक विरासतों को दिखाया जाएगा। शहर के जेके मंदिर की खूबसूरत तस्वीरें मेट्रो रेलवे स्टेशनों पर दिखाई देंगी। बिठूर और गंगा के प्रमुख घाटों की भी झलक यात्रियों को स्टेशन पर देखने को मिलेगी। कानपुर मेट्रो ट्रेन में एक बार में 974 यात्री यात्रा कर सकेंगे। ट्रेन 80-90 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से चलेगी।

सेफ्टी के खास इंतजाम

कानपुर मेट्रो में सुरक्षा के भी खास इंतजाम किए गए हैं। आग लगने की घटनाओं के मद्देनजर अत्याधुनिक फायर और क्रैश सेफ्टी के मानकों को ध्यान में रखकर मेट्रो बनाया गया है। प्रत्येक मेट्रो में 24 सीसीटीवी कैमरे लगे होंगे, जिनकी फुटेज ट्रेन ऑपरेटर और डिपो में बने सेंट्रल सिक्यॉरिटी रूम में पहुंचेगी। वायु प्रदूषण को कम करने के लिए ट्रेनों में मॉडर्न प्रॉपल्सन सिस्टम का इस्तेमाल किया गया है।

56 फोन चार्जिंग पॉइंट

कानपुर मेट्रो की प्रत्येक ट्रेन में 56 यूएसबी चार्जिंग पॉइंट और 36 एलसीडी पैनल्स होंगे। ट्रेन में टॉक बैक बटन की भी सुविधा है, जिससे यात्री आपातकालीन स्थितियों में ट्रेन ऑपरेटर से बात कर सकेंगे।

ऊर्जा बचाने में काफी कारगर

कानपुर मेट्रो ऊर्जा बचाने में भी काफी कारगर होगी। सभी ट्रेनों में रीजनरेटिव ब्रेकिंग सिस्टम लगा होगा। इससे ब्रेक लगाने पर उत्सर्जित होने वाली एनर्जी का 45 फीसदी रीजनरेट किया जा सकेगा। इसका इस्तेमाल फिर से उसी सिस्टम में किया जा सकेगा। इसके अलावा ट्रेन में कॉर्बन डाई ऑक्साइड सेंसर आधारित एयर कंडीशनिंग सिस्टम लगा होगा। यह ट्रेन में यात्रियों की संख्या के हिसाब से चलेगा और एनर्जी बचाएगा।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...