1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. फरार चल रहे धनंजय सिंह पर हाईकोर्ट का फरमान, 2 हफ्ते में करना होगा सरेंडर

फरार चल रहे धनंजय सिंह पर हाईकोर्ट का फरमान, 2 हफ्ते में करना होगा सरेंडर

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

रिपोर्ट: सत्यम दुबे

प्रयागराज: पूर्वांचल के बाहुबली सांसद धनंजय सिंह ने एक पुराने मामले में 5 मार्च को प्रयागराज के MLA/MP कोर्ट में आत्मसमर्पण किया था। जिसके बाद कोर्ट ने उसको जेल भेज दिया था। हाल ही में जमानत मिलने के बाद एक बार फिर धनंजय फरार होने में कामयाब हो गया है। अजीत सिंह हत्याकांड मामले में सुनावाई करते हुए इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच ने सोमवार को कहा कि दो सप्ताह के भीरत धनंजय आत्मसमर्पण कर जमानत याचिका दाखिल करें।

आपको बता दें कि न्यायालय ने सुनवाई करते हुए कहा कि अगर पूर्व सांसद धनंजय सिंह समेत पांच लोग सरेंडर नहीं करते तो उन सभी को भगोड़ा घोषित करने की कार्यवाही होगी। न्यायालय के इस टिप्पणी के बाद पुलिस भी सक्रिय हो गई है। इससे पहले भी पुलिस पूछताछ के लिए उसकी तलाश कर रही है।

इसी महीने के पहले हफ्ते में जौनपुर में पुलिस ने छापेमारी की थी। जहां धनंजय सिंह का ठीकाना है। भारी पुलिस बल के साथ वहां छापेमारी की गई थी, लेकिन पुलिस को बैरंग वापस लौटना पड़ा।

आपको बता दें कि पुलिस ने अजीत सिंह हत्या कांड में धनंजय को आरोपी बनाया है। लखनऊ पुलिस ने फरार चल रहे धनंजय सिंह पर 25 हजार का इनाम तक घोषित कर दिया था। इसके बाद धनंजय सिंह ने एक दूसरे मामले में प्रयागराज के एमएलए/एमपी कोर्ट में सरेंडर किया था।

आपको बता दें कि साल 2017 में जौनपुर के खुटहन थाने में दर्ज पुराने मामले में धनंजय सिंह ने सरेंडर किया था, जिसके बाद उसको गिरफ्तार कर नैनी जेल भेज दिया गया। लेकिन नैनी जेल में धनंजय ने जान को खतरा बताते हुए जेल ट्रांसफर की अर्जी दी थी।  जिसके चलते उसे फतेहगढ़ जेल में ट्रांसफर कर दिया गया था।

25 दिन जेल में रहने के बाद धनंजय सिंह को प्रयागराज की एमपी एमएलए कोर्ट से उस मामले में जमानत मिल गई थी। जिसके बाद धनंजय सिंह को फतेहगढ़ जेल से रिहा कर दिया गया था। इसी बीच उसके फरार होने का एक बार फिर मौका मिल गया, तभी से धनंजय सिंह फरार है।

 

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...