1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. निर्वाचन आयोग हुआ सख्त, जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव तक न हो किसी सदस्य की गिरफ्तारी, DM-SP को भेजा पत्र

निर्वाचन आयोग हुआ सख्त, जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव तक न हो किसी सदस्य की गिरफ्तारी, DM-SP को भेजा पत्र

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

रिपोर्ट: सत्यम दुबे

लखनऊ: उत्तर प्रदेश जिला पंचायत अध्यक्ष पद के लिए शनिवार 26 जून को नमांकन हो रहा है। इस दौरान जिला पंचायत अध्यक्ष पद के लिए चुनाव की प्रक्रिया के बीच विपक्षी समाजवादी पार्टी ने मोर्चा खोल दिया है। सपा नेता और पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष जुगेंद्र सिंह यादव के साथ पूर्व विधायक रामेश्वर सिंह यादव के खिलाफ फर्जी मुकदमा दर्ज करना का आरोप लगाया है। निर्वाचन आयोग भी इस मुकदमे को लेकर सख्त हो गया है।

आपको बता दें कि राज्य निर्वाचन आयोग ने एटा के जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक को पत्र लिखकर किसी भी जिला पंचायत सदस्य के खिलाफ अध्यक्ष के लिए चुनाव होने तक कोई मुकदमा दर्ज नहीं करने के लिए कहा है। आयोग ने इस पत्र की प्रतिलिपि सभी जिलाधिकारियों और पुलिस अधीक्षकों को भेजी है। आयोग ने पत्र में साफ किया है कि जिला पंचायत अध्यक्ष के लिए निर्वाचन प्रक्रिया संपन्न होने तक किसी भी नवनिर्वाचित सदस्य के खिलाफ फर्जी मुकदमें दर्ज न किए जाएं।

इसके साथ ही आयोग ने यह भी साफ कहा है कि यदि किसी नवनिर्वाचित सदस्य के खिलाफ मामले पहले से दर्ज हैं तब भी उन्हें गिरफ्तार न किया जाए जिससे वे अपने मताधिकार का उपयोग कर सकें। राज्य निर्वाचन आयोग ने यह चेतावनी भी दी है कि यदि इस प्रकार की कार्यवाही करके किसी सदस्य को मताधिकार से वंचित किया जाता है तो ऐसा करने वाले अधिकारी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

उत्तर प्रदेश के 75 जिलों में जिला पंचायत अध्यक्ष पद के लिए चुनाव होने हैं। जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव के लिए जिला मुख्यालयों पर सुबह 11 बजे से नामांकन दाखिल किए जा रहे हैं। नामांकन पत्र दाखिल करने की प्रक्रिया 3 बजे तक चलेगी इसके बाद नामांकन पत्रों की जांच की जाएगी। 29 जून की दोपहर 3 बजे तक उम्मीदवार अपना नाम वापस ले सकेंगे।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...