1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. सीएम योगी ने रोली-चंदन का तिलक लगाकर किया कन्या पूजन, तस्वीर आई सामने, देखें

सीएम योगी ने रोली-चंदन का तिलक लगाकर किया कन्या पूजन, तस्वीर आई सामने, देखें

उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने महानवमी के दिन गोरखपुर के गोरखनाथ मंदिर में परंपरा के अनुरूप पूरे विधि-विधान से कन्या पूजन किया। सीएम योगी ने नवरात्र के आखिरी दिन कन्याओं के पांव धोए और चुनरी ओढ़ाकर आशीर्वाद लिया ।

By आकृति जायसवाल 
Updated Date

उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने महानवमी के दिन गोरखपुर के गोरखनाथ मंदिर में परंपरा के अनुरूप पूरे विधि-विधान से कन्या पूजन किया। सीएम योगी ने नवरात्र के आखिरी दिन कन्याओं के पांव धोए और चुनरी ओढ़ाकर आशीर्वाद लिया । कन्या पूजन के बाद सीएम योगी ने स्वयं उन्हें भोजन परोसा और श्रद्धाभाव से दान दक्षिणा देकर अर्चना की एंव मंदिर के कार्यकर्ताओं को प्रसाद दिया ।


कन्या पूजन कार्यक्रम के समापन के बाद मीडिया को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि यह पर्व मातृ शक्ति के प्रति सम्मान जाहिर करने का प्रतीक है और इसीलिए वर्ष में दो बार, वासंतीय नवरात्र और शारदीय नवरात्र में, प्रत्येक सनातन धर्मावलंबी मां शक्ति की आराधना करता है। उन्होंने कहा कि ये मातृ शक्ति के प्रति सम्मान व्यक्त करने का सनातन हिन्दू धर्म का एक कार्यक्रम है। इस अवसर पर मुझे भी ये सौभाग्य मिला और मैंने भी कन्यापूजन किया।


मंगलवार को सीएम योगी ने अपने बयान में आगे कहा कि आज कन्या पूजन के साथ ही मां दुर्गा के पूजन का कार्यक्रम भी संपन्न हुआ है। स्वाभाविक रूप से हम सब के सामने भी इस पूजन के माध्यम से मातृ शक्ति के प्रति सम्मान व्यक्त करने का एक अवसर मिला है। मां दुर्गा का पूजन कार्यक्रम समाप्त होने के साथ ही विजयादशमी के कार्यक्रम प्रारंभ हो गए हैं।
सीएम योगी ने कहा कि वासंतीय नवरात्र में एक तरफ जहां भगवान राम के जन्मदिवस के रूप में मनाया जाता है तो वहीं दूसरी तरफ विजयादशमी सत्य की जीत का प्रतीक है। मैं इस अवसर पर प्रदेशवासियों को शुभकामना देता हूं। सीएम योगी ने आगे लोगों से अपील करते हुए कहा कि हमें कोरोना महामारी के बाद से सामूहिक रूप से इस कार्यक्रम से जुड़ने का अवसर मिला है। पूजा पंडालों मंदिरों में बेहद भीड़भाड़ है। मेरी अपील है की स्वच्छता, सुरक्षा और सद्भावना के साथ इस आयोजन को मनाएं तभी इसका महत्व अपने आप में कई गुना बढ़ जाएगा।


सीएम योगी ने आगे कहा कि प्रशासन इस दिशा में सबके सहयोग का आकांक्षी है। सुरक्षा का विशेष ख्याल रखा जाए। प्रसाशन की अपेक्षा है कि कोई भी ऐसा कृत्य ना हो जिससे भगदड़ की स्थिति हो। किसी के आस्था के साथ खिलवाड़ ना हो। सीएम योगी ने अपने संबोधन के जरिए एक बार फिर प्रदेश के सभी लोगों को विजयादशमी के पावन पर्व की शुभकामना दी और सुरक्षा एवं सद्भावना के साथ दशहरा पर्व को मानाने की अपील की।

पूजन के बाद भोजन परोसते समय सीएम योगी बच्चों से निरंतर संवाद और ठिठोली भी करते रहे। यह भी ख्याल रखते रहे कि किसी भी बालक-बालिका की थाली में भोजन प्रसाद की कोई कमी न रहे। इसे लेकर वह मंदिर की व्यवस्था से जुड़े लोगों को निर्देशित करते रहे।

मंगलवार सुबह नवरात्र की नवमी पर सीएम योगी ने विधि विधान से कन्या पूजन कर मातृशक्ति की आराधना की। मां दुर्गा के नौ स्वरूपों की प्रतीक नौ कुंवारी कन्याओं के पांव पखारे, चुनरी ओढाई, आरती उतारी, श्रद्धापूर्वक भोजन कराया, दक्षिणा और उपहार देकर उनका आशीर्वाद लिया। मुख्यमंत्री ने परम्परा का निर्वहन करते हुए बटुक पूजन भी किया।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...