1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. चंदौली: पुलिस अधीक्षक ने साइबर क्राइम के खुलासे के निर्देश दिए

चंदौली: पुलिस अधीक्षक ने साइबर क्राइम के खुलासे के निर्देश दिए

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

(चंदौली से उमेश सिंह की रिपोर्ट)

खबर चंदौली से है, पुलिस अधीक्षक हेमंत कुटियाल ने लगातार हो रही साइबर क्राइम के खुलासे के निर्देश दिए थे।  जिस के क्रम में मुगलसराय कोतवाली पुलिस और एसओजी की टीम लगातार कार्यवाही में जुटी थी। इस दौरान उन्हें मुखबिर से सूचना मिली की, मुगलसराय कोतवाली क्षेत्र के मंडल रेल प्रबंधक कार्यालय के समीप तीन शातिर अंतरप्रांतीय जालसाज मौजूद है।

इस पर टीम ने घेराबंदी कर तीनों को पकड़ लिया।  तलाशी में उनके पास से तीन एटीएम कार्ड दो आधारकार्ड तीन पैन कार्ड एक वोटर आईडी एक डीएल और विभिन्न कंपनियों के पास सिम कार्ड सहित दो तमंचा तीन जिंदा कारतूस बरामद हुए है। बता दें कि, पुलिस को जो भी दस्तावेज आरोपियों के पास से मिले है। वो सब फर्जी और नकली है। पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि, चेक का क्लोन कराकर विभिन्न खातों से पैसा निकाल लिया करते थे।

यह ज्यादातर सरकारी संस्थान और गैर सरकारी संस्थानों को अपना निशाना बनाते थे। महाराष्ट्र के नागपुर के अपने साथी कुंदन सेठ के माध्यम से चेक का क्लोन तैयार कर फर्जी खाता खुलवा कर उन खातों के जरिए दूसरे के खाते से अपने खाते में पैसा ट्रांसफर कर लेते थे और एटीएम के जरिए पैसा निकाल लिया करते थे।

पूछताछ में भी ये भी जानकारी मिली है की गैंग का सरगना राजेश मिश्रा को उसके साथी विपिन त्यागी और अमित त्यागी नकली दस्तावेज लगाकर फर्जी खातों के एटीएम उपलब्ध कराते थे। सरगना राजेश मिश्रा पहले भी जालसाजी के मामले में जेल जा चुका है। तीनों आरोपी वाराणसी जनपद के बताए गए हैं ।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...