1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. BSP सुप्रीमो मायावती ने सरकार पर साधा निशाना, बताया BSP क्यों नहीं लड़ रही जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव

BSP सुप्रीमो मायावती ने सरकार पर साधा निशाना, बताया BSP क्यों नहीं लड़ रही जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

रिपोर्ट: सत्यम दुबे

लखनऊ: यूपी में सियासी सरगर्मी उबाल ले रही है। यहां पार्टियों को सामने कुछ ही महीनों में होने वाला आगामीं विधानसभा चुनाव दिख रहा तो, मौजूदा वक्त में जिला पंचायत अध्यक्ष बनाने की होड़ लगी है। इन सब के बीच प्रदेश में अलग तरह की राजनीति करने वाली बहुजन समाज पार्टी की सुप्रीमो मायावती ने सोमवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस करके बड़ा ऐलान किया है।

आपको बता दें कि मायावती ने ऐलान किया कि BSP जिला पंचायत अध्यक्ष का चुनाव नहीं लड़ेगी। हालांकि इसके पीछे की वजह भी मायावती ने बताई। उन्होंने पार्टी नेताओं से विधानसभा चुनाव की तैयारी करने को कहा है। इसके साथ मायावती ने भारतीय जनता पार्टी पर जमकर हमला बोला है। उन्होने कहा कि बीजेपी समाजवादी पार्टी वाली गलतियों को दोहरा रही है। इससे लोकतंत्र की जड़ें भी कमजोर हो रही हैं।

इस दौरान मायावती ने विधानसभा चुनाव के लिए तैयार अपना नारा भी बताया। जो वो विधानसभा चुनाव में लेकर आने वाली हैं। उन्होंने कहा कि चुनाव में उनका मुख्य नारा और उद्देश्य ‘यूपी को बचाना है, सर्वजन को बचाना है, BSP को सत्ता में लाना है, लाना है’। आगे उन्होने कहा कि विपक्षी पार्टियां और मीडिया BSP को कम ना आंके।

इसके साथ ही मायावती ने राज्य की बीजेपी सरकार पर भी हमला बोलते हुए कहा कि बीजेपी उसी तौर-तरीके से काम कर रही है, जैसा समाजवादी पार्टी करती थी। उन्होने कहा कि ऐसी शैली की वजह से ही उन्होंने 1995 में SP से अलग होने का फैसला किया था, लेकिन अब बीजेपी भी वही सब कर रही है।

मायावती ने अपनी तरफ से तरफ से पार्टी कार्यकर्ताओं और नेताओं को संदेश दिया कि वह इस पंयायत चुनाव में अपना वक्त खराब ना करते हुए, पार्टी को मजबूत करने में लगाएं। उन्होने आगे कहा कि इससे अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव में बीएसपी को फायदा होगा। उन्होने दावा किया कि कार्यकर्ताओं ने अगर पार्टी को मजबूत किया तो BSP की अपने बलबूते सरकार बनने के भी चांस हैं।

उन्होने कहा विधानसभा चुनाव में BSP की जीत हुई तो अधिकांश जिला अध्यक्ष खुद ही उनकी पार्टी में शामिल हो जाएंगे। इसके साथ ही मायावती ने अपनी पार्टी के नेताओं को नसीहद दी कि विरोधी पार्टियों की साम, दाम, दंड, भेद नीति से सावधान रहना होगा। उन्होने आगे बताया कि वह फिलहाल कोरोना नियमों के चलते लखनऊ में मौजूद हैं और वहीं से मीटिंग्स में हिस्सा ले रही हैं।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...