1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. बुलंदशहर में BJP की जीत, BJP उम्मीदवार डा अंतुल तेवतिया के अलावा किसी ने नहीं किया नामांकन

बुलंदशहर में BJP की जीत, BJP उम्मीदवार डा अंतुल तेवतिया के अलावा किसी ने नहीं किया नामांकन

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

रिपोर्ट: सत्यम दुबे

बुलंदशहर: जिला पंचायत अध्यक्ष पद के लिए शनिवार 26 जून को नामांकन दाखिल किया गया। नामांकन के साथ ही कहीं कहीं के परिणाम भी दिखने लगे हैं। बात करें बुलंदशहर जिले की तो भाजपा की की तरफ से अंतुल तेवतिया ने नामांकन पत्र दाखिल किया है। अंतुल के नामांकन पत्र दाखिल करते ही परिणाम भी दिखने लगा। अंतुल के अलावा किसी ने भी नामांकन नहीं किया है। इस स्थिति में अंतुल का निर्विरोध चुना जाना तय माना जा रहा है।

आपको बता दें कि  जिला पंचायत अध्य क्ष पद के लिए नामांकन को आज अंतिम मौका था। जिले में भाजपा की अच्छी पकड़ होने के कारण कयास लगाए जा रहे थे कि भाजपा की जीत पक्की है। विरोधी पार्टियों में भी इस बात की हलचल तेज थी, हो सकता है कि यही कारण रहा हो कि भाजपा की जीत देख किसी भी पार्टी के उम्मीदवार ने नामांकन न किया हो।

इन सब के बीत पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष हरेन्द्र यादव की पत्नी आशा यादव व सुनील चरौरा की पत्नी गीता चरौरा ने नामांकन पत्र खरीदा था। लेकिन नामांकन नहीं किया। निर्विरोध प्रत्यावशी होने से अब तय हो चुका है कि जिले में पंचायत अध्याक्ष पद के लिए चुनाव नहीं होंगे। वहीं BJP खेमा पहले से ही दावा कर रहा था कि उनकी जीत निश्चित देख कोई भी नामांकन करने नहीं आएगा। निर्विरोध होने से भाजपा खेमा में खुशी की लहर है।

बात करें  सिकंदराबाद की तो यहां पुलिस कार्रवाई के दौरान हिरासत में लिए गए नेताओं में बसपा जिलाध्यक्ष भी थे। इस दौरान उनके साथ बसपा के कई सदस्य भी मौजूद थे। बसपा के इस सदन में दस जिला पंचायत सदस्य है। उधर, रालोद के सात सदस्य बताए जा रहे हैं। सपा के तीन सदस्यों के साथ यह संख्या बीस हो जाती है। रालोद, सपा व बसपा की गलबहिया ने भाजपा नेताओं की सांस तेज कर दी है। 17 जिला पंचायत सदस्यों की गिरफ्तारी की रही चर्चा रही।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...