1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. लखीमपुर खीरी हिंसा मामले पर केंद्रीय गृह राज्य मंत्री के बेटे का बड़ा बयान, घटनास्थल पर खुद के होने से किया इंकार, कही ये बात

लखीमपुर खीरी हिंसा मामले पर केंद्रीय गृह राज्य मंत्री के बेटे का बड़ा बयान, घटनास्थल पर खुद के होने से किया इंकार, कही ये बात

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री और बीजेपी के नेता अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने खुद को इस घटना में शामिल होने पर इनकार किया है। आशीष मिश्रा ने कहा कि यूपी की कानून-व्यवस्था पर भरोसा है। दोषियों के खिलाफ कार्रवाई हो। जांच में दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा।

By Amit ranjan 
Updated Date

नई दिल्ली : उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री और बीजेपी के नेता अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने खुद को इस घटना में शामिल होने पर इनकार किया है।  आशीष मिश्रा ने कहा कि यूपी की कानून-व्यवस्था पर भरोसा है। दोषियों के खिलाफ कार्रवाई हो। जांच में दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा।

उन्होंने कहा कि, ”हमारे यहां 35 सालों से दंगल का आयोजन होता आया है। जनपद के लोग वहां जाते हैं। 3 तारीख को दंगल का आयोजन था। डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य को बुलाया गया था। उन्हें लाने के लिए कुछ कार्यकर्ता गए थे। एक गाड़ी हमारी थी महिंद्रा थार और दो अन्य गाड़ी थी (एक फॉर्च्यूनर और एक छोटी गाड़ी थी)। इसी दौरान जब डिप्टी सीएम को लेने जा रहे थे तब कुछ अराजक तत्वों ने लाठी डंडों से हमारी गाड़ी को निशाना बनाया, शीशे को तोड़ दिया।”

आशीष मिश्रा ने कहा कि, ”हमारा एक कार्यकर्ता निकलकर भागा. उसने हमें पूरा मामला बताया। हमारे चार कार्यकर्ताओं की हत्या कर दी गई। गाड़ी को आग लगा दी गई। मैं घटना स्थल पर नहीं था। मैं सुबह 9 बजे से ही दंगल स्थल पर था, वहीं कार्यक्रम की तैयारी में लगा हुआ था।”

गौरतलब है कि लखीमपुर खीरी जिले के तिकोनिया क्षेत्र में रविवार को उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य द्वारा केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के पैतृक गांव के दौरे के विरोध को लेकर भड़की हिंसा में चार किसानों समेत आठ लोगों की मौत हो गई थी। इस मामले में मिश्रा के बेटे आशीष समेत कई लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है।

वहीं दूसरी तरफ इस घटना से जुड़े कई वीडियो सामने आये है जिसमें एक में एक लग्जरी गाड़ी किसानों को रौंदती हुई नजर आ रही है, तो वहीं दूसरे में आंदोलनकारी गाड़ियों को घेरकर मुर्दाबाद के नारे लगा रहे है। आपको बता दें कि इसे लेकर लोगों के काफी तीखी प्रतिक्रिया देखने को मिल रहा है। वहीं कानून उल्लंघन मामले में कांग्रेस उपाध्यक्ष प्रियंका गांधी को गिरफ्तार किया गया है। जबकि अखिलेश यादव समेत कई नेता नजरबंद हैं।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...