Home उत्तराखंड योग गुरु बाबा रामदेव पर भड़कीं केंद्रीय मंत्री उमा भारती

योग गुरु बाबा रामदेव पर भड़कीं केंद्रीय मंत्री उमा भारती

3 second read
0
68

नई दिल्ली। योग गुरु बाबा रामदेव द्वारा केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी और उमा भारती के काम की तुलना वाले बयान से विवाद पैदा हो गया है। बाबा रामदेव के इस बयान पर केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने नाराजगी जाहिर करते हुए एक पत्र लिखा है। अपने इस पत्र में उन्होंने लिखा कि ‘मैं खुद भी नितिन गड़करी की प्रशंसक हूं और उनसे बहुत कुछ सीखने को मिला है। उनके साथ करना सम्मान की बात है। लेकिन आपने पूरी दुनिया के सामने लंदन के किसी टीवी चैनल पर मेरे बारे में चर्चा करते समय शायद यह ध्यान नहीं दिया कि आप मुझे निजी तौर पर आहत और मेरे आत्मसम्मान पर चोट कर रहे हैं।

उमा भारती ने आगे लिखा है, ‘अभी तक इन 50 सालों में अथक परिश्रम, निष्ठा और राष्ट्रवाद मेरी शक्ति रही हैं और इसी विश्वसनीयता ने मुझे राजनीति में उचित स्थान दिलाया है। आप भारत के योग गुरू और स्वदेशी के मसीहा हैं, इसलिए आपके मुंह से मेरे बारे में निकला कोई जुमला मुझे हानि पहुंचा सकता है। आप मेरे मार्गदर्शक हैं और मुझे विश्वास है कि आपका आशीर्वाद बना रहेगा। चूंकि, आपने सार्वजनिक टिप्पणी की थी कि इसलिए मैं भी इस पत्र को सार्वजनिक करूंगी।’

केंद्रीय मंत्री के इस पत्र पर बाबा रामदेव ने ट्वीट कर कहा कि- पूज्य उमा भारती जी के साथ मेरा आध्यात्मिक भाई-बहन का संबंध है। उनके सम्मान को आहत करने की मेरी कोई मंशा नहीं थी। मेरा मकसद गंगा की कार्ययोजना पर उन्हें आ रही प्रारम्भिक व प्रशासनिक कठिनाइयों की ओर इशारा करना भर था। उनकी गंगा-निष्ठा, धर्म-निष्ठा और राष्ट्र-निष्ठा प्रशंसनीय है।

आपको बता दें कि कुछ दिन पहले लंदन में एक कार्यक्रम के दौरान बाबा रामदेव ने केंद्रीय मंत्री पर तंज कसते हुए कहा था कि ‘उमा भारती की फाइल ऑफिस में अटक जाती है जबकि गडकरी की फाइल नहीं अटकती है।’ इसके अलावा उन्होंने कहा था कि देश में सबसे ज्यादा किसी मंत्री का काम दिखता है तो वह नितिन गडकरी का काम दिखता है।

Load More In उत्तराखंड
Comments are closed.