1. हिन्दी समाचार
  2. ताजा खबर
  3. पीएम मोदी की पाठशाला- तकनीक से बचकर रहना चाहिए

पीएम मोदी की पाठशाला- तकनीक से बचकर रहना चाहिए

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 20 जनवरी सोमवार को परीक्षा पे चर्चा किया। तालकटोरा स्टेडियम में पीएम मोदी ने छात्रों को परीक्षा के तनाव से बचने के कई टिप्स दिए, जिसमें उन्होंने चंद्रयान-2 से लेकर क्रिकेट तक का जिक्र किया।

पीएम मोदी ने कहा कि, व्यवस्था से हमें जो शिक्षा मिलती है, वह दुनिया का द्वार है। वर्णमाला सीखते समय, बच्चे एक नई दुनिया में प्रवेश करते हैं। हमारी शिक्षा हमारे लिए नई चीजों को सीखने का एक तरीका है। हमें इसे दिनचर्या के मूल में रखने और अधिक जानने की आवश्यकता है।

स्मार्ट फोन जितना समय आपका समय चोरी करता है, उसमें से 10 प्रतिशत कम करके आप अपने मां, बाप, दादा, दादी के साथ बिताएं। तकनीक हमें खींचकर ले जाए, उससे हमें बचकर रहना चाहिए। हमारे अंदर ये भावना होनी चाहिए कि मैं तकनीक को अपनी मर्जी से उपयोग करूंगा।

आज की पीढ़ी घर से ही गूगल से बात करके ये जान लेती है कि उसकी ट्रेन समय पर है या नहीं। नई पीढ़ी वो है जो किसी और से पूछने के बजाए, तकनीक की मदद से जानकारी जुटा लेती है। इसका मतलब कि उसे तकनीक का उपयोग क्या होना चाहिए, ये पता लग गया।

तकनीक के कारण सोशल नेटवर्किंग कम हो गई है। पहले हम अपने दोस्तों को शारीरिक रूप से देखकर जश्न मनाते थे और आश्चर्यचकित करते थे। इन दिनों, हम उन्हें वस्तुतः कामना कर रहे हैं। हर दिन, ऐसा कुछ समय होना चाहिए कि आप खुद को तकनीक से दूर रखें। हर दिन एक प्रौद्योगिकी-मुक्त घंटे होना चाहिए। उस समय को दोस्तों, परिवार, किताबों, बगीचे या पालतू जानवरों के साथ बिताएं।

पूरे घर में एक कमरा होना चाहिए और उसके अंदर कोई तकनीक नहीं होनी चाहिए। यदि आप ऐसा करते हैं तो जीवन एक नया अनुभव होगा। प्रत्येक सदस्य को उस कमरे में गैजेट के बिना बैठना चाहिए। मैं किसी परिजन पर कोई दवाब नहीं डालना चाहता, और न किसी बच्चे को बिगाड़ना चाहता हूं। जैसे स्टील के स्प्रिंग को ज्यादा खींचने पर वो तार बन जाता है, उसी तरह मां-बाप, अध्यापकों को भी सोचना चाहिए कि बच्चे कि क्षमता कितनी है।

अगर आप बोझ लेकर परीक्षा हॉल में गए हैं तो सारे प्रयोग बेकार जाते हैं। आपको आत्म विश्वास लेकर जाना है। परीक्षा को कभी जिंदगी में बोझ नहीं बनने देना है। आत्मविश्वास बहुत बड़ी चीज है। साथ ही फोकस एक्टिविटी होनी जरूरी है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...