Home Breaking News सुप्रीम कोर्ट में ‘निर्भया गैंगरेप’ के दोषियों की याचिका खारिज,फांसी की सजा बरकरार

सुप्रीम कोर्ट में ‘निर्भया गैंगरेप’ के दोषियों की याचिका खारिज,फांसी की सजा बरकरार

0 second read
0
51

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने आज निर्भया गैंगरेप के आरोपियों को बड़ा झटका दिया है। सर्वोच्च न्यायालय ने गैंगरेप के तीनों दोषियों की याचिका को खारिज कर दिया है जिसके बाद आरोपियों की फांसी का रास्ता साफ हो गया है। बता दें कि बीते 4 मई को निर्भया गैंगरेप मामले में सुप्रीम कोर्ट ने दोषियों की पुनर्विचार याचिका पर फ़ैसला सुरक्षित रख लिया था। सुप्रीम कोर्ट में चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा, जस्टिस आर भानुमति और जस्टिस अशोक भूषण की बेंच ने दोषियों विनय, पवन और मुकेश की पुनर्विचार याचिका पर फैसला सुरक्षित रखा था। दरअसल मामले की सुनवाई के दौरान दोषियों ने दलील दी थी कि वो गरीब पृष्ठभूमि से आए हुए हैं, वो आदतन अपराधी नहीं हैं इसलिए सुधरने का मौका दिया जाए लेकिन कोर्ट ने मामले की गंभीरता को देखते हुए आरोपियों पर रहम करने से साफ इंकार कर दिया।

आपको बता दें कि गैंगरेप के आरोपी विनय और पवन की ओर से वकील ने सुप्रीम कोर्ट में कहा कि उनकी पृष्ठभूमि और सामाजिक आर्थिक हालात को देखकर सजा कम की जाए। आरोपियों के वकील ने दलील दी थी कि 115 देशों ने मौत की सजा को खत्म कर दिया है। सभ्य समाज में इसका कोई स्थान नहीं। सजाए मौत सिर्फ अपराधी को खत्म करती है अपराध को नहीं। वहीं इस फैसले के दौरान निर्भया के माता-पिता कोर्ट में मौजूद थे। कोर्ट का फैसला सुनकर निर्भया की मां की आंखों में आंसू आ गए थे। सुप्रीम कोर्ट ने कहा था – सेक्स और हिंसा की भूख के चलते बड़ी वारदात को अंजाम दिया गया। दोषी अपराध के प्रति आसक्त थे। जैसे अपराध हुआ, ऐसा लगता है अलग दुनिया की कहानी है। जजों के इस फैसले के बाद कोर्ट में मौजूद लोगों ने तालियां बजाई।

Load More In Breaking News
Comments are closed.