1. हिन्दी समाचार
  2. खेल
  3. INDIA ने 2-1 से जीती वनडे सीरीज, बनाये नए रिकार्ड्स

INDIA ने 2-1 से जीती वनडे सीरीज, बनाये नए रिकार्ड्स

भारत ने इंग्लैंड को वनडे सीरीज में 2-1 से हरा दिया। आखिरी वनडे में टीम इंडिया ने पांच विकेट से जीत हासिल की। भारत की ओर से ऋषभ पंत ने शानदार शतकीय पारी खेली। वहीं, हार्दिक पांड्या के ऑलराउंड प्रदर्शन ने फैन्स का दिल जीत लिया।

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

भारत ने इंग्लैंड को वनडे सीरीज में 2-1 से हरा दिया। आखिरी वनडे में टीम इंडिया ने पांच विकेट से जीत हासिल की। भारत की ओर से ऋषभ पंत ने शानदार शतकीय पारी खेली। वहीं, हार्दिक पांड्या के ऑलराउंड प्रदर्शन ने फैन्स का दिल जीत लिया। इस जीत के साथ भारत ने कई रिकॉर्ड भी अपने नाम किए टीम इंडिया इंग्लैंड में 2015 से लेकर अब तक यानी पिछले आठ साल में द्विपक्षीय वनडे सीरीज जीतने वाली सिर्फ दूसरी टीम है। इस दौरान इंग्लैंड ने 15 द्विपक्षीय वनडे सीरीज सात टीमों के खिलाफ खेली है।

भारत के अलावा ऑस्ट्रेलिया ने 2015 में इंग्लैंड को 3-2 से और 2020 में 2-1 से हराया था भारत ने वनडे में इंग्लैंड के खिलाफ अब तक 11 सीरीज जीती हैं। हालांकि, इंग्लैंड की धरती पर यह टीम इंडिया की चौथी वनडे सीरीज जीत है। इसमें 1986 में 1-1 से बराबर छूटी सीरीज भी शामिल है, जिसमें भारत को विजेता घोषित किया गया था। भारतीय टीम आठ साल बाद इंग्लैंड में वनडे सीरीज जीतने में कामयाब हो पाई। पिछली बार टीम इंडिया ने इंग्लैंड में 2014 में 3-1 से वनडे सीरीज जीती थी।

जिस तरह भारत मिडिल क्लास का देश माना जाता है उसी तरह अब टीम इंडिया भी अब मिडिल ऑर्डर की टीम बनती जा रही है। फॉर्मेट चाहे टेस्ट हो, वनडे हो या टी-20, अब लगता है कि दो से तीन विकेट गिरने के बाद ही हमारी असली बैटिंग शुरू होगी। इंग्लैंड दौरे पर तीनों फॉर्मेट को मिलाकर हुए सात मुकाबलों में कम से कम पांच बार हमें इससे जुड़े संकेत मिले। इससे पहले ऑस्ट्रेलिया दौरे और घरेलू सीरीज के मुकाबलों में भी ऐसा ही हुआ।

कुल मिलाकर यह कहा जाने लगा है कि भले ही पब्लिक परसेप्शन और सोशल मीडिया में विराट कोहली और रोहित शर्मा मौजूदा दौर के सबसे बड़े क्रिकेटिंग स्टार्स बने हों, लेकिन ग्राउंड पर तस्वीर बदल गई है। अब ऋषभ पंत और हार्दिक पंड्या का जमाना आ गया है। ऋषभ पंत पिछले एक साल से तीनों फॉर्मेट को मिलाकर टीम इंडिया के बेस्ट बल्लेबाज साबित हुए हैं। इंग्लैंड के इस दौरे की शुरुआत उन्होंने बर्मिंघम टेस्ट में शतक बनाकर की और समापन मैनचेस्टर वनडे में तूफानी शतकीय पारी खेल कर की।

हार्दिक पंड्या फिटनेस के कारण अभी टेस्ट नहीं खेलते, लेकिन पिछले एक साल में उन्होंने 21 मैचों में 415 रन बनाए हैं। साथ ही उन्होंने 15 विकेट भी लिए हैं। पंड्या भारत के इकलौते ऐसे ऑलराउंडर भी बन गए हैं जिन्होंने तीनों फॉर्मेट में एक ही मैच में 50+ रन की पारी खेलने के साथ-साथ 4 विकेट लेने का कारनामा भी किया है

इंग्लैंड ने पहले बल्लेबाजी करते हुए भारत के सामने 260 रनों का लक्ष्य रखा था, इस स्कोर को ऋषभ पंत की 125 रनों की नाबाद पारी के दम पर भारत ने 5 विकेट रहते हासिल कर लिया। रोहित शर्मा ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी चुनी थी। मेजबानों को 259 रनों पर समेटकर गेंदबाजों ने अपना काम कर दिया था, मगर लॉर्ड्स की तरह एक बार फिर भारतीय टॉप ऑर्डर मैनचेस्टर में भी फेल हुआ।

शिखर धवन 1 तो रोहित-कोहली 17-17 रन बनाकर आउट हुए, वहीं सूर्यकुमार यादव भी 16 रन बना पाए। भारत ने 72 रन पर अपने 4 विकेट खो दिए थे, उस समय ऐसा लगने लगा था कि एक बार फिर टीम इंडिया को बल्लेबाजी में गहराई ना होने का नुकसान झेलना पड़ेगा, मगर पंत और हार्दिक ने ऐसा नहीं होने दिया।

 

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...