1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. विशेष पॉक्सो कोर्ट ने 140 दिन में दिया बच्ची को न्याय, दुष्कर्म के बाद हत्या करने वाले को सजा-ए-मौत

विशेष पॉक्सो कोर्ट ने 140 दिन में दिया बच्ची को न्याय, दुष्कर्म के बाद हत्या करने वाले को सजा-ए-मौत

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

रिपोर्ट: सत्यम दुबे

बुलंदशहर: यूपी के बुलंदशबर जिले में न्यायालय ने एक मामले की त्वरित सुनवाई करते हुए मृतक पीड़िता को न्याय दिया है। न्यायालय ने एक 8 साल की बच्ची को 140 दिन में ही न्याय दिया है। बच्ची के साथ बलात्कार और उसकी हत्या के मामले में दोषी साबित हुए हरेंद्र को विशेष पॉक्सो कोर्ट ने फांसी की सजा सुनाई है। इसके साथ ही कोर्ट ने 1.20 लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया है।

आपको बता दें कि जिले के अनूपशहर कोतवाली क्षेत्र के एक गांव में 25 फरवरी 2021 को अपनी दो बेटियों के साथ एक दंपति खेत में काम कर रहा था, तभी 8 साल की मासूम बच्ची ट्यूबवेल की तरफ पानी पीने चली गई। यहीं 28 साल के युवक हरेंद्र ने मासूम बच्ची को बुरी नियत से पकड़ लिया और अपने घर ले जाकर बच्ची के साथ दुष्कर्म किया।

इसके बाद हरेंद्र ने मासूम बच्ची से बलात्कार के बाद उसकी गला दबाकर हत्या कर दी और अपने ही घर के आंगन में गड्ढा खोद शव को दफन कर दिया। इसके बाद वह फरार हो गया। 28 फरवरी 2021 को बच्चे के पिता ने हरेंद्र पर शक जाहिर करते हुए केस दर्ज कराया। इस घटना की तफ्तीश डिबाई क्षेत्र की डिप्टी एसपी वंदना शर्मा को दी गई।

2 मार्च को हरेंद्र के घर की तलाशी ली गयी तो बाथरूम के पास कमजोर मिट्टी मिली। मिट्टी ताजी थी, पुलिस ने इसी शक के आधार पर खुदाई कराई तो बच्ची का शव बरामद हो गया। इसी दौरान जॉच में हरेंद्र के बिस्तर पर बच्ची के सिर का बाल और उसका लॉकेट मिला। पुलिस ने दिल्ली में छिपे हरेंद्र को गिरफ्तार कर लिया। उसके गले पर नाखून के निशान थे।

इसके बाद जब हरेंद्र के गले पर लगे नाखून के निशान की जब DNA जांच कराई गई तो वह बच्ची के ही निकले। पुलिस ने मामले की गंभीरता को देखते हुए 10 दिन के अंदर कोर्ट में चार्जशीट फाइल कर दी। विशेष पॉक्सो कोर्ट की जस्टिस पल्लवी अग्रवाल ने प्रस्तुत साक्ष्यों, गवाहों और बयानों के आधार पर हरेंद्र को मासूम की रेप के बाद हत्या और साक्ष्य छिपाने आदि का दोषी करार देते हुए उसे फांसी की सजा दी। इसके साथ ही कोर्ट ने 1.20 लाख रुपये का जुर्माना मुकर्रर किया।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
RNI News Ads