Home उत्तर प्रदेश बर्खास्त सिपाही ने दिया यूपी पुलिस को खुला चैलेंज, विडियो शेयर कर दी IPS को जान से मार देने की धमकी

बर्खास्त सिपाही ने दिया यूपी पुलिस को खुला चैलेंज, विडियो शेयर कर दी IPS को जान से मार देने की धमकी

12 second read
0
37

रिपोर्ट: नंदनी तोदी
गोरखपुर: सिपाहियों का फ़र्ज़ देश की रक्षा करना और गलत के खिलाफ कार्रवाई करना है। लेकिन कई बार ऐसा होता है कि उन्ही सिपाहियों के बीच तालमेल नहीं बैठता और एक दूसरे को जान से मार देने की धमकी देने लगते है। ऐसा ही हुआ कुछ गोरखोर से जहा एक बर्खास्त सिपाही ने आईपीएस को जान से मार देने की धमकी दी है।

दरअसल, सिपाही दिग्विजय कुशीनगर जिले के तरयासुजान के बसडीलामुनाकर गांव का रहने वाला है। वो वहा की बस्ती जिले में तैनात था। उसके बर्ताव और रवैये की वजह से उसे बर्खास्त कर दिया गया था।

ऐसा पहली बार नहीं हुआ था इससे पहले उसने पिछले साल 3 और 4 दिसंबर को पुलिस लाइन ने बवाल किया था। इतना ही नहीं, अफसरों के खिलाफ अमर्यादित टिप्पणी भी की थी। हालाँकि उस वक्त कोई कार्रवाई नहीं की गई।

लेकिन उसने 10 दिसंबर को एक बार फिर पुलिस लाइन में हंगामा किया था। इतना ही नहीं कुर्सियां तोड़ दी थी। और फेसबुक पर लाइव आकर अमर्यादित बयानबाजी की थी। इसी की वजह से उसे बर्खास्त कर दिया था।

अपनी खुंदक के चलते उसने एक वीडियो सोशल मीडिया पर डाला जिसमे उसने IPS को जान से मार देने की धमकी दी। उसने वीडियो में कहा:

“Hi दोस्तों। मेरा नाम दिग्विजय राय है। आज मैं एक चुनौती देने वाला हूं गोरखपुर को गोरखपुर एसपी को। उत्तर प्रदेश पुलिस को, जिसके DGP कौन हैं? मुझे नहीं पता। कल 14 फरवरी को वैलेनटाइन डे पर। सुबह 10 बजे के पहले। मोहद्दीपुर चौराहे के पास एक आदमी एक मर्डर करूंगा। यदि पुलिस के पास पावर है तो रोक ले। लगातार तीन दिन मर्डर करूंगा। लेकन कल का मर्डर एकदम श्योर है। अगर यह मजाक लग रहा है तो मेरे बारें में पता करना हो तो बस्ती के एसपी हेमराज मीणा और गोरखपुर, खलीलाबाद, कुशीनगर के एसपी से पता कर लीजिए। पहला मर्डर करने के बाद दूसरे व तीसरे मर्डर का कारण पता चलेगा। यदि यूपी पुलिस में ताकत है तो मुझे रोक लो।”

उसके इस वीडियो के बाद पुलिस हरकत में आई। गोरखपुर के मोहद्दीपुर चौकी इंचार्ज ने इस बात पर केस दर्ज कराया। चौकी इंचार्ज की तहरीर पर धमकी देने व IT एक्ट के तहत FIR दर्ज की गई है।

आपको बता दे, आरोपी बर्खास्त सिपाही की तलाश में पुलिस के अलावा क्राइम ब्रांच भी एक्टिव है। फिलहाल अभी तक वह पकड़ में नहीं आया है।

Load More In उत्तर प्रदेश
Comments are closed.