Home उत्तर प्रदेश गौ हत्या रोकने में नाकाम हुए तो थानेदार ने अपने ही खिलाफ दर्ज की शिकायत

गौ हत्या रोकने में नाकाम हुए तो थानेदार ने अपने ही खिलाफ दर्ज की शिकायत

1 second read
0
75

 

मेरठ। उत्तर प्रदेश के मेरठ में एक अलग तरह का मामला सामने आया है। दरअसल मेरठ के एक थानाध्यक्ष ने अपने काम में लापरवाही स्वीकार करते हुए अपने ही थाने में अपने और अपने साथी पुलिसकर्मियों के खिलाफ शिकायत दर्ज की है। जानकारी के मुताबिक मेरठ के थाना खरखोदा के एसएचओ राजेंद्र त्यागी ने थाना का प्रभार लेते पुलिसकर्मियों की जवाबदेही तय करते हुए कुछ नियम बनाए थे। उनके नियम के अनुसार, जो भी कर्तव्य निर्वह में लापरवाही बरतेगा उसके खिलाफ शिकायत दर्ज की जाएगी। इतना ही नहीं अगर लापरवाही दो बार से ज्यादा पाई गई तो उस पुलिसकर्मी की शिकायत उच्च अधिकारियों को भेजी जाएगी।

एसएचओ राजेंद्र त्यागी के मुताबिक, थाने का कामकाज संभालने के बाद से अब तक उनके क्षेत्र में छह छोटी-छोटी चोरियां हो चुकी है, जिनमें उन्होंने छह कांस्टेबल के खिलाफ शिकायत दर्ज की थी। उन्होंने बताया कि आज उनके क्षेत्र में गौकशी हुई है, जिसमें उन्होंने बीट कांस्टेबल, हल्का प्रभारी और स्वयं अपने आप को जिम्मेदार मानते हुए अपने ही थाने में अपने और बीट कांस्टेबल अनिल तेवतिया, हल्का प्रभारी प्रेम प्रकाश, एसआई चंद किशोर, रात्रि प्रभारी दरोगा सुनील, कांस्टेबल आजाद और नीलेश के खिलाफ शिकायत दर्ज की।

इतना ही नहीं एसएचओ ने अपने क्षेत्र के 19 गौ तस्करों के खिलाफ मामला भी दायर किया और अब उनकी धरपकड़ के लिए दबिश दी जा रही है। वही इस मामले के सामने आने के बाद पर मेरठ के एसएसपी राजेश पांडे ने थाना अध्यक्ष राजेंद्र त्यागी की सराहना की है। उन्होंने कहा कि कहा कि राजेंद्र त्यागी ने अपने ही बनाए हुए नियम का सख्ती से पालन किया है और यह ऐसे पुलिसकर्मियों के लिए एक मिसाल है जो अपने कार्य के प्रति लापरवाही बरतते हैं।

Load More In उत्तर प्रदेश
Comments are closed.