Home वायरल “गठबंधन सरकार के सांसदों को खुश करने के लिए किया जाता है सेक्स वर्कर का इस्तेमाल, संसद के इमारत के अंदर ही…

“गठबंधन सरकार के सांसदों को खुश करने के लिए किया जाता है सेक्स वर्कर का इस्तेमाल, संसद के इमारत के अंदर ही…

0 second read
0
254

नई दिल्ली : अभी तक आपने ऐसे कई खबरें सुनी होंगी, जिसमें सहयोगी दल को अपने साथ बनाये रखने के लिए प्रमुख पार्टी अन्य दलों के नेता एवं उनके कुछ सदस्यों को अपने मंत्रिमंडल में जगह देने के साथ ही एक खास ओहदा देती है। लेकिन उससे अलग ऑस्ट्रेलिया से एक ऐसा मामला सामने आया है, जिसने पूरी ऑस्ट्रेलियाई सरकार को हिला कर रख दिया है। गौरतलब है कि एक शख्स ने ऑस्ट्रेलिया सरकार पर ये आरोप लगाया है कि ऑस्ट्रेलियाई संसद में सेक्‍स वर्कर को इमारत के अंदर लाया जाता है ताकि गठबंधन सरकार के सांसदों को खुश किया जा सके।

दरअसल ऑस्‍ट्रेलिया में संसद के अंदर प्रधानमंत्री स्‍कॉट मॉरिशन सरकार के सदस्‍यों के सेक्‍स करने के वीडियो के लीक होने से सियासी तूफान आ गया है। इस वीडियो में एक व्‍यक्ति तो एक महिला सांसद के डेस्‍क के पास मास्‍टरबेट कर रहा है। इस चौंका देने वाले खुलासे के बाद मंगलवार को स्‍कॉट मॉरिशन की सरकार एक और बड़े स्‍कैंडल में घिर गई है। हालांकि प्रधानमंत्री ने इस घटना को बेहद शर्मनाक और घृणास्‍पद करार दिया है।

आपको बता दें कि प्रधानमंत्री मॉरिशन का यह बयान ऐसे समय पर आया है जब वह अपने कर्मचारी के एक अन्‍य महिला सरकारी कर्मचारी के रेप के मामले को सही तरीके से हैंडल ना कर पाने के कारण काफी दबाव में हैं। बता दें कि ऑस्‍ट्रेलिया सरकार के इन सेक्‍स वीडियो को एक ग्रुप चैट पर शेयर किया गया था जिसे किसी ने लीक कर दिया। इन वीडियो का मीडिया में खुलासा होने के बाद तहलका मच गया है।

आपको बता दें कि इस वीडियो के लीक होने के बाद पूरे देश में आरोपियों के खिलाफ जोरदार प्रदर्शन शुरू हो गया है। इस प्रदर्शन में ऑस्‍ट्रेलिया की महिला सांसद भी शामिल हैं। वहीं दूसरी तरफ, वीडियो लीक करने वाले की पहचान टॉम के रूप में हुई है। उसने बताया कि सरकारी कर्मचारी और सांसद अक्‍सर संसद के प्रार्थना कक्ष का इस्‍तेमाल सेक्‍स करने के लिए करते हैं। उसने आरोप लगाया कि सेक्‍स वर्कर को संसद की इमारत के अंदर लाया जाता है ताकि गठबंधन सरकार के सांसदों को खुश किया जा सके।

टॉम ने बताया कि कर्मचारियों के बीच में अक्‍सर अश्‍लील तस्‍वीरों का आदान-प्रदान होता है। यह इतना ज्‍यादा होता है कि वह अब इसके आदी हो गए हैं। उसने कहा कि यहां के पुरुष कर्मचारी यह सोचते हैं कि वह कुछ भी कर सकते हैं। ये लोग यह भी मानते हैं कि उन्‍होंने कोई कानून नहीं तोड़ा है और न ही वे नैतिक रूप से भ्रष्‍ट हैं। आपको बता दें कि इस मामले के खुलासे के बाद सरकार ने तत्काल एक कर्मचारी को बर्खास्त कर दिया है। वहीं महिला मामलों की मंत्री मरिसे पायने ने कहा कि सरकार को इस पूरे मामले की जांच करानी चाहिए।

Load More In वायरल
Comments are closed.