Home उत्तर प्रदेश आरुषि गैंगरेप हत्याकांड में दिलशाद, इजराइल और जुल्फिकार को पॉक्सो कोर्ट ने सुनाई फांसी की सजा, मां ने कहा फांसी…

आरुषि गैंगरेप हत्याकांड में दिलशाद, इजराइल और जुल्फिकार को पॉक्सो कोर्ट ने सुनाई फांसी की सजा, मां ने कहा फांसी…

1 second read
0
25

रिपोर्ट: सत्यम दुबे

बुलंदशहर: यूपी का बुलंदशहर जिला उस वक्त चर्चा में आया गया था, जब 2 जनवरी 2018 को ट्यूशन से घर लौटते समय आरुषि नाम की एक लड़की को अगवा कर उसके साथ गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया गया। इसके बाद उसकी हत्या कर दी गई थी। दरिंदो ने आरुषि को अगवाकर NH-91 पर चलती कार में बारी-बारी से बलात्कार कर उसकी हत्या कर दी थी।

अगवा होने के दो दिन बाद 4 जनवरी 2018 को दादरी कोतवाली क्षेत्र के रजवाहे में आरुषि का अज्ञात शव पड़ा मिला था। इसके बाद पुलिस ने शिनख्त की, और आरुषि के परिजनों ने गैर समुदाय के तीन दरिंदों को गैंगरेप और हत्या में नामजद कराया। प्रदेश में राजनीतिक भूचाल आ गया था। घटना के बाद पुलिस के भी होश उड़ गये थे।

दो वर्ष तक चली सुनवाई के बाद कोर्ट ने अपना फैसला सुना दिया है। आरुषि गैंगरेप और हत्या के मामले में कोर्ट ने तीन को दोषी पाया है। उनके द्वारा किये गये कुकृत्य अनुसार कोर्ट ने तीनों दरिंदो को फांसी की सजा सुनाई है। केस की सुनवाई के दौरान पुलिस की भी लापरवाही सामने आई, जिसके बाद कोर्ट ने पुलिस को भी फटकारा। आपको बता दें कि तत्कालीन चौकी इंचार्ज ने सील किये माल को कोर्ट में पेश नहीं किया था। पुलिस ने जो माल सील किया था, उसमें आरुषि के चप्पल, बैग, किताबें, बोतल आदि सामान थे।

कोर्ट ने फटकार लगाते हुए कहा कि यह माल केस के निस्तारण के लिए अहम सबूत होता है। मामले में कोर्ट ने एसएसपी को पत्र लिखने की चेतावनी भी दी। आपको बता दें कि घटना को जब अंजाम दिया गया था, उस वक्त सूबे की सियासत में उबाल ला दिया था। भारी दबाव के बीच पुलिस ने करीब 10 दिन में ही मामले का खुलासा किया। इस दौरान पुलिस ने 3 लोगों की संलिप्तता पाई। इस मामले में सिकंदराबाद निवासी आरोपी इजराइल, जुल्फिकार और दिलशाद को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था।

अपर सत्र न्यायाधीश/ पॉस्को एक्ट राजेश पाराशर ने तीनों आरोपियों को नाबालिग छात्रा को अगवा कर उसके साथ गैंगरेप कर हत्या करने का दोषी करार दिया था। बुधवार को न्यायाधीश ने केस में फैसला सुनाते हुए तीनों अभियुक्तों को फांसी और अर्थदंड की सजा सुनाई। कोर्ट के फैसले का सम्मान करते हुए आरुषि की मां ने कहा कि वह दरिंदों को फांसी पर लटके हुए देखना चाहती है।

Load More In उत्तर प्रदेश
Comments are closed.