Home देश रेप केस में प्रिंसिपल को फांसी, क्लर्क को उम्रकैद, 11 साल की नाबालिग हुई थी गर्भवती

रेप केस में प्रिंसिपल को फांसी, क्लर्क को उम्रकैद, 11 साल की नाबालिग हुई थी गर्भवती

0 second read
0
345

पटना :  कक्षा 5 में पढ़ने वाली एक छात्रा के साथ हुए रेप केस को कोर्ट ने रेयरेस्ट ऑफ रेयर मानते हुए दोषी अरविंद को फांसी की सजा सुनाई, जबकि बलात्कार में मदद करने के दोषी क्लर्क अभिषेक कुमार को सश्रम आजीवन कारावास सजा दी है।

बिहार की राजधानी पटना में तीन साल पहले एक नाबालिग के साथ स्कूल के प्रिंसिपल ने रेप केस को अंजाम दिया था और पूरे कुकर्म करने में स्कूल के एक क्लर्क ने साथ दिया था बतादें की कक्षा 5 में पढ़ने वाली छात्रा की उम्र 11 साल थी और अब इस पूरे मामले में सिविल कोर्ट ने दोषी स्कूल प्रिंसिपल अरविंद कुमार को फांसी की सजा सुनाई है, जबकि दोषी क्लर्क अभिषेक को उम्रकैद की सजा दी है, वहीं कोर्ट ने प्रिंसिपल पर एक लाख रुपये और क्लर्क पर 50 हजार रुपये जुर्माना भी लगाया है।

बताया जा रहा है की पीड़ित पटना के फुलवारी शरीप का मित्र मंडल कॉलोनी में स्थित एक पब्लिक स्कूल में छात्रा पढ़ती थी और प्रिंसिपल अरविंद कुमार ने सितंबर 2018 में अपने स्कूल की 5वीं की छात्रा के साथ रेप की घिनौनी वारदात को अंजाम दिया है और आरोपी प्रिंसिपल की क्लर्क अभिषेक ने सहायता की थी।

बच्ची के साथ रेप केस का खुलासा जब हुआ तब बच्ची के पेट में दर्द की शिकायत होने पर परिजन उसे अस्पताल ले कर गए और वहां पर बच्ची के गर्भवती होने की बात सामने आई। पूरे मामले का खुलासा होने पर पीड़ित बच्ची के परिजनों पॉक्सो एक्ट के तहत केस दर्ज कराया है…पीड़िता का आरोप है की स्कूल के प्रिंसिपल ने अपने चैंबर में दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया है।

घटना की पूरी जानकारी पुलिस को मिलने के बाद आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई शुरू कर दी और दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। इस मामले में सबसे अहम सबूत एफएसएल का रिपोर्ट है, कोर्ट के आदेश के बाद PMCH में पीड़ित बच्ची का गर्भपात कराया गया था. गर्भपात के अंश, पीड़िता और दोषी स्कूल संचालक अरिवंद कुमार के डीएनए की जांच हुई, जो पूरी तरह मिल गए थे।

Load More In देश
Comments are closed.