1. हिन्दी समाचार
  2. राजनीति
  3. एमएलसी में क्रॉस वोटिंग से भाजपा की जीत, ठाकरे सरकार के 11 विधायक पहुंचे सूरत

एमएलसी में क्रॉस वोटिंग से भाजपा की जीत, ठाकरे सरकार के 11 विधायक पहुंचे सूरत

महाराष्ट्र की उद्धव सरकार के 11 विधायक सूरत में ठहरे हुए हैं। महाराष्ट्र की राजनीति में भूचाल आ गया।

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

आज जैसे ही जानकारी मिली कि महाराष्ट्र की उद्धव सरकार के 11 विधायक सूरत में ठहरे हुए हैं। महाराष्ट्र की राजनीति में भूचाल आ गया। पहले ही महाराष्ट्र की उद्धव सरकार एनसीपी और कांग्रेस के समर्थन पर चल रही है। ऐसे में यह विधायक अपना हाथ खींचते हैं तो परिणाम स्वरूप सरकार गिर सकती है।

क्या है MLC और MLA के बीच अंतर

1-MLA (Member of Legislative Assembly)की तरह MLC (Member of Legislative Council )भी विधान मंडल का सदस्य होता है लेकिन यह विधान सभा का नहीं बल्कि विधान परिषद् का सदस्य होता है।

2-MLA का कार्यकाल पांच साल का होता है जबकि MLC का कार्यकाल छह साल का होता है। 3-3-MLA को जनता चुनकर लाती है वहीं, MLC का चुनाव विधायकों द्वारा, नगर पालिका, नगरनिगम, बोर्डों, निकायों के सदस्यों द्वारा ,रजिस्टर्ड स्नातकों द्वारा होता है।

4- MLA बनने की न्यूनतम उम्र 25 साल है तो वहीं, MLC बनने की न्यूनतम उम्र 30 साल होती है।

शिवसेना के 10-12 विधायक पहुंच गुजरात

सोमवार को एमएलसी चुनाव में फिर भाजपा ने शिवसेना नीत एमवीए गठबंधन को झटका दिया और मंगलवार को शिवसेना के 10-12 विधायक गुजरात पहुंच गए हैं। इससे अनुमान जताया जा रहा है कि महाराष्ट्र में खेला होने की तैयारी है।

शिवसेना के 10-12 विधायक एकनाथ शिंदे के साथ सूरत की होटल में हैं। विधान परिषद के चुनाव में कल बड़े पैमाने पर क्रॉस वोटिंग हुई। महाराष्ट्र विधान परिषद की 10 सीटों के लिए सोमवार को हुए चुनाव में सत्तारूढ़ महाविकास अघाड़ी को फिर झटका लगा है।

भाजपा ने अकेले पांच सीटें जीत लीं वहीं, शिवसेना व राकांपा ने दो-दो सीटें जीतीं तो कांग्रेस के हाथ सिर्फ एक सीट आई। राज्यसभा चुनाव के बाद लगातार दूसरी बार एमवीए को झटके से सीएम व शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे भी चिंतित हैं। उन्होंने आज बैठक बुलाई है।

महाराष्ट्र विधान परिषद   महा विकास अघाड़ी को बड़ा झटका लगा है। भगवा पार्टी इस चुनाव में 10 में से पांच सीटें जीतने में कामयाब रही। वहीं, चंद्रकांत हंडोरे को हार का सामना करना पड़ा है। कांग्रेस के भाई जगताप ने अपनी ही पार्टी के विधायकों पर गद्दारी करने का आरोप लगाया है। उन्होंने इसकी शिकायत पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी से करने की बात कही है। वहीं, महराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने शिवसेना विधायकों की एक बैठक बुलाई है।

महाराष्ट्र विधान परिषद में भाजपा पांच सीटें जीतने में कामयाब

महाराष्ट्र विधान परिषद चुनाव में सभी 10 सीटों के परिणाम सोमवार देर रात आ गए। भाजपा अपने सभी पांचों उम्मीदवारों को जिताने में कामयाब रही। शिवसेना और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के खाते में दो-दो सीटें जबकि कांग्रेस के खाते में एक सीट आई है। शिवसेना की तरफ से सचिन अहिर और आमश्या पाडवी को जीत मिली है जबकि एनसीपी की तरफ से रामराजे निंबालकर और एकनाथ खड़से ने जीत हासिल की है। भाजपा की ओर से प्रसाद लाड, श्रीकांत भारतीय, प्रवीण दरेकर, उमा खापरे और राम शिंदे ने बाजी मारी है। कांग्रेस के उम्मीदवार भाई जगताप को भी जीत मिली है

कांग्रेस विधायकों ने की क्रॉस वोटिंग

सूत्रों के मुताबिक, कांग्रेस के 44 विधायक थे लेकिन इनमें से सिर्फ 41 ने ही कांग्रेस को पहली प्राथमिकता दी। तीन विधायकों के क्रास वोटिंग करने की खबर सामने आई। भाजपा के वरिष्ठ नेता और पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि पार्टी के उम्मीदवारों को कुल 134 वोट मिले हैं। इससे पहले मतगणना को लेकर देर रात तक हंगामा होता रहा।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...