Home देश हाथरस में सामूहिक दुष्कर्म की शिकार युवती की मौत के बाद प्रदेश में सियासत हुई तेज

हाथरस में सामूहिक दुष्कर्म की शिकार युवती की मौत के बाद प्रदेश में सियासत हुई तेज

41 second read
0
9

हाथरस में सामूहिक दुष्कर्म का शिकार चंदपा क्षेत्र की 19 वर्षीय युवती ने दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में उपचार के दौरान मंगलवार सुबह करीब 6:00 बजे दम तोड़ दिया।

इस मामले में सियासत ने रफ़्तार पड़ ली है। इस घंटा को लेकर सभी पार्टी ने सरकार को लेकर घेरना शुरू कर दिया है। अब आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह ने भी योगी सरकार पर लगातार सवाल उठा रही है।

संजय सिंह ने एक ट्वीट का को लेकर रीट्वीट किया जिसमे लिखा “अगर चिन्मयानंद के समर्थन में खड़ी रहेगी योगी सरकार तो कैसे न्याय मिलेगा बेटियों को? कहां सो रहा है महिला आयोग? कहां है योगी की पुलिस? योगी ने उत्तर प्रदेश को जंगल से भी बदत्तर बना दिया है।”

संजय सिंह ने एक ट्वीट का को लेकर रीट्वीट किया जिसमे लिखा “योगी जी ने कहा कि प्रदेश में बलात्कारियों की होर्डिंग लगाई जाएंगी, आप उत्तर प्रदेश ने तमाम बलात्कारी भाजपा नेताओं के बैनर बनवा कर इस फैसले का साथ देने का फ़ैसला किया । पर योगी जी की पुलिस ने aap कार्यकर्ताओं को पकड़ना शुरू कर दिया । लखनऊ से वरिष्ठ नेता अफ़रोज़ हिरासत में लिए गए।”

संजय सिंह ने अपने ट्वीट में योगी सरकार पर आरोप लगते हुए कहा कि “योगी जी ने कहा दुराचारियों के पोस्टर लगाओ आप उत्तर प्रदेश के युवा साथियों ने पोस्टर लगाने की कोशिश की तो पुलिस नोक झोंक पर उतर आई।”

संजय सिंह योगी सरकार को अपने सवालों से लगातार घेरने की कोशिश कर रहे है उन्होंने अपने अगले ट्वीट में लिखा कि “योगी जी के आदेश का खुला उल्लंघन करती यूपी पुलिस ये क्या योगी जी आपने कहा “दुराचारियों के पोस्टर लगाओ” आप उत्तर प्रदेश ने पोस्टर लगाया आपकी पुलिस पोस्टर ही फाड़ने लगी आख़िर क्यों?”

केजरीवाल सरकार में मंत्री राजेंद्र पाल गौतम ने कहा, ‘उत्तर प्रदेश में जंगल राज, सीएम योगी दें इस्तीफ़ा…केंद्र सरकार से मांग योगी सरकार को भंग करें और हाथरस बलात्कर मामले की सीबीआई जांच हो और पीड़ित परिवार को सुरक्षा के साथ-साथ 1 करोड़ का मुआवजा दिया जाए. 2 महीने में चार्जशीट फ़ाइल हो और 6 महीने में फांसी की सजा।’

आप को बता दे कि सोमवार को हालत बेहद गंभीर होने पर उसे अलीगढ़ के जेएन मेडिकल कॉलेज से दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल रेफर किया गया था। जहां आज उसकी मौत हो गई।पीड़िता ने चारों आरोपियों की पहचान संदीप, रामू, लवकुश और रवि के रूप में की थी। पुलिस अधीक्षक ने बताया था कि संदीप को घटना के दिन ही गिरफ्तार कर लिया गया था।

बाद में रामू और लवकुश को भी गिरफ्तार किया गया और शनिवार को चौथे आरोपी रवि को भी गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया।चारों आरोपियों के खिलाफ सामूहिक दुष्कर्म और हत्या के प्रयास का मामला दर्ज किया गया है।

Load More In देश
Comments are closed.