Home Breaking News पीएम मोदी ने ‘मन की बात’ में राज्यों को दिया जीएसटी की सफलता का क्रेडिट

पीएम मोदी ने ‘मन की बात’ में राज्यों को दिया जीएसटी की सफलता का क्रेडिट

0 second read
0
142

नई दिल्ली प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज 45वीं बार मन की बात के जरिए देशवासियों से बात की। पीएम ने अपने कार्यक्रम में इस बार खास तौर पर जीएसटी, योग, खेल और डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी के बारे में चर्चा की। पीएम मोदी ने जीएसटी को देश का बड़ा आर्थिक सुधार बताते हुए इसका पूरा क्रेडिट राज्यों को दिया। पीएम ने कहा कि इससे बिचौलिए की भूमिका खत्म हो गई है। देश के ईमानदार लोगों में जीएसटी को लेकर उत्साह का माहौल है। मुझे देश भर से लोगों के संदेश इस महत्वपूर्ण कर सुधार को लेकर मिलते रहते हैं। जीएसटी के एक साल पूरे होने पर उन्होंने कहा कि वन नेशन वन टैक्स एक सपना था, लेकिन जीएसटी से वह सपना सच हो गया।

इसके अलावा पीएम ने कहा कि योग अब राष्ट्र, जाति और धर्म की सीमाओं को तोड़कर सबको एक कर रहा है। जनसंघ के संस्थापक श्यामा प्रसाद मुखर्जी को याद करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि उन्होंने हमेशा अखंड भारत का सपना देखा। उनका जीवन कई क्षेत्रों से जुड़ा रहा, लेकिन खास तौर पर शिक्षा के क्षेत्र में उन्होंने काफी काम किया। वह सिर्फ 33 साल की उम्र में यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर बने। पीएम ने कहा, ‘भारत की औद्योगिक तरक्की की नींव रखने के लिए भी डॉक्टर मुखर्जी को हमेशा याद रखा जाएगा।’ इतना ही नहीं प्रधानमंत्री ने योग का जिक्र करते हुए कहा कि खेल और योग के जरिए हमारे जीवन को विस्तार मिलता है। उन्होंने अफगानिस्तान और भारतीय टीम के बीत टेस्ट मैच का जिक्र करते हुए दोनों टीमों को शुभकामनाएं दीं। पीएम ने कहा, ‘अहमदाबाद में एक दृश्य को मन को छू लेनेवाला था जब दिव्यांग साथियो ने शारीरिक बाधा पार कर योग किया। हमारे सेना के जवानों ने हिमालय की चोटी पर नदी के अंदर भी योग किया।’

Load More In Breaking News
Comments are closed.