Home उत्तराखंड छात्रवृत्ति घोटाले को लेकर SIT के नए दिशा-निर्देश ,समय सीमा बढ़ाने का क्या होगा आसार

छात्रवृत्ति घोटाले को लेकर SIT के नए दिशा-निर्देश ,समय सीमा बढ़ाने का क्या होगा आसार

1 second read
0
49

छात्रवृत्ति घोटाले की जांच कर रही एसआईटी ने ऊधम सिंह नगर जिले के लगभग 1400 छात्रों को अपने बयान दर्ज कराने के लिए पुलिस लाइन में 23 से 30 दिसंबर तक का समय दिया था। जिसके लिए एसआईटी द्वारा सभी 1400 छात्रो को नोटिस जारी करते हुए, पुलिस लाइन में अपने बयान दर्ज कराने को कहा गया था।

जिसके बाद छात्रों द्वारा बयान दर्ज किए जा रहे थे, लेकिन सभी छात्रों के बयान दर्ज ना होने के चलते एसआईटी अब बयान दर्ज करने के लिए और अधिक समय बड़ा सकती है। उतराखण्ड प्रदेश के 11 जिलों में छात्रवृत्ति घोटाले को लेकर हाईकोर्ट के निर्देश पर एसआईटी गठित की गई थी। जिसके बाद सभी 11 जिलों में एसआईटी का गठन कर जांच की जा रही है। उधम सिंह नगर में अब तक कई शिक्षण संस्थानों के खिलाफ मुकदमा भी दर्ज किया गया है। साथ ही आधा दर्जन से अधिक बिचौलियों को जेल भी भेजा जा चुका है।

वही एसआईटी के इंचार्ज देवेंद्र पिंचा ने बताया कि जिले से बाहर शिक्षा ग्रहण करते हुए छात्रवृत्ति प्राप्त करने वाले ऐसे छात्रो को 30 दिसम्बर तक अपना पक्ष रखते हुए बयान दर्ज करने के लिए पुलिस लाइन में पहुंचना था। इस बीच काफी छात्रों द्वारा अपने बयान भी दर्ज किए गए हैं, लेकिन कई ऐसे छात्र बच गए जिनके द्वारा बयान दर्ज नहीं किए गए हैं। इसी के चलते छात्रों के बयान दर्ज करने के लिए समय सीमा बढ़ाई जा सकती है।

(दीपक कुकरेजा की रिपोर्ट)

Share Now
Load More In उत्तराखंड
Comments are closed.