1. हिन्दी समाचार
  2. जरूर पढ़े
  3. इस देश में कोरोना के सबसे खतरनाक वेरिएंट ने दिया दस्तक, मचा हड़कंप, केंद्र ने सभी राज्यों को किया अलर्ट

इस देश में कोरोना के सबसे खतरनाक वेरिएंट ने दिया दस्तक, मचा हड़कंप, केंद्र ने सभी राज्यों को किया अलर्ट

The most dangerous variant of Corona in this country knocked, created a stir, Center alerted all the states; कोरोना वायरस संक्रमण के नए वैरिएंट मिलने से पूरी दुनिया में मचा हड़कंप। इंग्लैंड ने साउथ अफ्रीका को अपनी ट्रेवल रेड लिस्ट में डाल दिया।

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

नई दिल्ली :  दक्षिण अफ्रीका में कोरोना वायरस संक्रमण के नए वैरिएंट मिलने से पूरी दुनिया में हड़कंप मचा गया है। इंग्लैंड ने साउथ अफ्रीका को अपनी ट्रेवल रेड लिस्ट में डाल दिया है। इसके साथ ही, साउथ अफ्रीका की सभी उड़ानों को रोक लगाते हुए, इंग्लैंड ने अफ्रीका के छह देशों पर ट्रैवल बैन कर दिया है। इंग्लैंड ने दक्षिण अफ्रीका को रेड लिस्ट में डाला। वहीं इजराइल ने भी साउथ अफ्रीका पर यात्रा प्रतिबंध लगा दिए हैं। इसके अलावा गुरुवार को इजराइल ने भी साउथ अफ्रिका पर प्रतिबंध लगा दिया। इज़राइल ने घोषणा की है कि वह अपने नागरिकों को दक्षिणी अफ्रीका की यात्रा करने से रोक रहा है और इस क्षेत्र से विदेशियों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगा रहा है। यह दक्षिण अफ्रीक में मिले नए COVID-19 वेरिएंट के कारण किया जा रहा है।

हाल ही में सैकड़ों लोग जो साउथ अफ्रीका से इंग्लैंड लौटे हैं, जहां बी.1.1.1.529 वैरिएंट मिला है, उनका पता लगाए जाने और उन्हें टेस्ट कराने के लिए कहे जाने की भी उम्मीद है। व्हाइटहॉल के सूत्रों ने कहा कि नया वेरिएंट हमारे वैक्सीन कार्यक्रम के लिए एक संभावित खतरा है, जिसे हमें हर कीमत पर बचाना है। इंपीरियल कॉलेज लंदन के विषाणु विज्ञानी डॉ टॉम पीकॉक ने इस सप्ताह की शुरुआत में अपने ट्विटर अकाउंट पर वायरस के नए स्वरूप (बी.1.1.529) का विवरण पोस्ट किया था। अधिकारियों ने इससे जुड़े 22 मामलों की बृहस्पतिवार को पुष्टि की।


दक्षिण अफ्रीका में कोरोना वायरस का नया वैरिएंट मिला है। मुद्दे की बात ये है कि इसकी वजह से पूरे देश 100 से ज्यादा लोग संक्रमित हो चुके हैं। इस वैरिएंट के सामने आने के बाद दक्षिण अफ्रीका की सरकार निजी लेबोरेट्रीज के साथ मिलकर बड़े पैमाने पर इस वैरिएंट से संक्रमित लोगों की खोजबीन कर रही है। अभी तक यह नहीं पता चल पाया है कि यह कितना खतरनाक है। लेकिन दक्षिण अफ्रीका की द नेशनल इंस्टीट्यूट फॉर कम्यूनिकेबल डिजीस (NICD) के मुताबिक यह संक्रामक हो सकता है। इधर, भारत सरकार के स्वास्थ्य सचिव ने निर्देश जारी किया है कि भारत आने वाले सभी अंतरराष्ट्रीय यात्रियों की सघन कोरोना जांच की जाए।

डॉ टॉम पीकॉक के पोस्ट के बाद से वैज्ञानिक इस स्वरूप पर गौर कर रहे हैं। हालांकि, ब्रिटेन में इसे चिंता पैदा करने वाले स्वरूप की श्रेणी में अभी औपचारिक रूप से नहीं डाला गया है। लेकिन, ब्रिटेन इस दिशा में गंभीरता से विचार कर रहा है और कई यात्रा उपायों की ओर कदम बढ़ा रहा है।

एनआईसीडी के कार्यवाहक कार्यकारी निदेशक प्रोफेसर एड्रियन प्यूरेन ने कहा, “इसमें आश्चर्य की कोई बात नहीं है कि साउथ अफ्रीका में एक नए स्वरूप का पता चला है। हालांकि, आंकड़े अभी सीमित हैं, हमारे विशेषज्ञ नए स्वरूप को समझने के लिए सभी स्थापित निगरानी प्रणालियों के साथ लगातार काम कर रहे हैं।’’

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...