Home Breaking News उत्तर प्रदेश के सरकारी स्कूलों में 3 लाख से ज्यादा बच्चों ने छोड़ी पढ़ाई

उत्तर प्रदेश के सरकारी स्कूलों में 3 लाख से ज्यादा बच्चों ने छोड़ी पढ़ाई

2 second read
0
97

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए सरकार की और से योजनाएं तो बहुत चलाई जा रही हैं लेकिन, उनका असर दिख नहीं रहा है। वहीं इसके उलट सरकारी विद्यालयों में बच्चों की संख्या कम होती जा रही है। आकड़ों के मुताबिक शैक्षिक सत्र 2017-18 की तुलना में चालू सत्र 2018-19 में अगस्त तक प्रदेश के 50 जिलों के प्राथमिक विद्यालयों में तीन लाख 43 हजार से अधिक बच्चों की संख्या कम हो गई है। प्रदेश में सबसे अधिक सीतापुर में 30,108 बच्चों की संख्या कम हुई। बेसिक शिक्षा निदेशक ने कम हुई संख्या पर चिंता जताते हुए नामांकन वृद्धि के लिए जिला बेसिक शिक्षा अधिकारियों को पत्र जारी किया है।

परिषदीय विद्यालयों में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के साथ बच्चों को आकर्षित करने के लिए सरकार कई प्रयास कर रही है। बच्चों को दोपहर के खाने के साथ सप्ताह में एक दिन दूध और फल, स्कूली ड्रेस, जूता-मोजा, बैग, स्वेटर आदि सब कुछ दिया जा रहा है। घर-घर से बच्चों को विद्यालय लाने के लिए स्कूल चलो अभियान भी चलता है। अब कारण जो भी हो इन सब योजनाओं के बाद भी विद्यालयों में बच्चों की संख्या कम हो रही है। बेसिक शिक्षा निदेशक की तरफ से जारी किए गए पत्र के मुताबिक, प्रतापगढ़ में 21,761 बच्चे कम हो गए। इसी तरह गोंडा में 19,449 तो बरेली में 19,788 बच्चों की संख्या कम हो गई। सबसे कम बच्चों की संख्या हापुड़ में 195 कम हुई है। इसी तरह नोएडा में 627 बच्चों की संख्या कम हुई है।

Load More In Breaking News
Comments are closed.