1. हिन्दी समाचार
  2. मीडिया जगत
  3. हिन्दुओं ने दिखाई ताकत तो पीछे हटा एले इंडिया, आर्टिकल को किया डिलीट; लिखें थे ऐसे शब्द…

हिन्दुओं ने दिखाई ताकत तो पीछे हटा एले इंडिया, आर्टिकल को किया डिलीट; लिखें थे ऐसे शब्द…

Hindus showed their power, then retreated Elle India; एले इंडिया ने हिन्दुओं पर लिखा विवादित लेख। कड़े विरोध के बाद हटाया आर्टिकल। लिखें कई विवादित शब्द।

By Amit ranjan 
Updated Date

नई दिल्ली : एले इंडिया ने हाल ही में हिन्दू की संस्कृति के बारे में अपने जहरीले विचार प्रकट करते हुए एक आर्टिकल पब्लिश किया था। जिसके बाद हिन्दुओं ने अपनी ताकत दिखाते हुए एले इंडिया के खिलाफ अपना प्रदर्शन दिखाया तो एले इंडिया द्वारा हिन्दुओं के विरोध में लिखा आर्टिकल को डिलीट कर दिया।

बता दें कि यह आर्टिकल में मुख्य रूप से इस बात पर था कि आखिर कैसे हिंदू अपने संस्कृति, त्योहार, सभ्यता के विरुद्ध तैयार किए जा रहे प्रचार पर मुखर होकर विरोध कर रहे हैं। जिसके बाद सोशल मीडिया के उपयोगकर्ताओं ने एले इंडिया को आड़े हाथों ले लिया। एले इंडिया ने पोस्ट डिलीट कर दिया।

गौरतलब है कि ये आर्टिकल रूमन बेग जैसे लोगों ने लिखा था जिनके सोशल मीडिया चेक करें तो पता चलता है कि वो कैसे शरजील इमाम के समर्थन में आवाज उठाने वालों का समर्थन करते हैं।

आपको जानकारी के लिए बात दें कि एले की डिजिटल एडिटर एनी निजामी अहमदी हैं। जिसने आर्टिकल पर हुए बवाल के बाद अपने अकॉउंटस को लॉक कर लिया है। इनके साथ इस्लामी पत्रकारिता की सबसे बड़ा चेहरा राणा अयूब के भाई आरिफ अयूब भी एले से जुड़े हैं। इन सबकी सोशल एक्टिविटी बताती हैं कि कैसे ये सब सीएए के विरोध में कट्टरपंथी आवाजों के साथ थे।

साथ ही बता दें, एले द्वारा पोस्ट किए गए कुछ इलस्ट्रेशन भी एक हिंदू विरोधी मानसिकता वाले आर्टिस्ट की ही उपज थे, जो अक्सर अपने सोशल मीडिया अकॉउंट्स पर एंटी हिंदू सामग्री डालता रहता है। इस आर्टिस्ट का यूजर नेम Lord_VoldeMaut है। 19 साल का यह आर्टिस्ट हिंदू विरोधी है लेकिन इसे यह नहीं पता था कि इसका वर्क कैसे एले ने अपने कंटेंट को जानदार बनाने के लिए इस्तेमाल किया और बदले में न इससे पूछा और न पैसे दिए। जब इसे इस संबंध में पता चला तो इसने सारी पोल-पट्टी अपने अकॉउंट पर पोस्ट करके खोली। ये आर्टिस्ट हिंदुओं के विरोध में भगवा रंग का इस्तेमाल करके एक पूरी सीरिज चला रहा था। इसने अक्टूबर में हर दिन अपने कंटेट को डाल रखा था।

आर्टिस्ट ने ही बताया कि एले ने कैसे विरोध के बाद अपने खबर और पोस्ट से लेखक का नाम हटा दिया था और उसका नाम रहने दिया। इसके बाद सोशल मीडिया यूजर्स ने आर्टिस्ट की क्लास लगाई और स्थिति ऐसी हो गई कि उसे भी अपने ट्विटर को डिएक्टिवेट करके जाना पड़ा। बाद में उसने कुछ बदलावों के साथ वापसी की और अब उसका हैंडल प्राइवेट हैं। उधर, एले ने भी नेटीजन्स की लताड़ लगने के बाद अपने पोस्ट को इंस्टा से हटा लिया और बाद में बिन माफी माँगे चुपके से आर्टिकल भी डिलीट कर दिया।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...