1. हिन्दी समाचार
  2. Madhya Pradesh
  3. प्रेमी को पाने के लिए पति का कत्ल किया, फिर शव के ऊपर खाट डाल रातभर सोती रही; और… मनाया करवा चौथ

प्रेमी को पाने के लिए पति का कत्ल किया, फिर शव के ऊपर खाट डाल रातभर सोती रही; और… मनाया करवा चौथ

Killed the husband to get the lover, then put the cot on the dead body and slept all night; बसंती का कहना था कि मनीष से उसे प्यार हो गया था। वो मेरा ख्याल रखता था। लेकिन, पारीक्षत आड़े आ रहा था। 4 सितंबर की रात पारीक्षित नशे में धुत होकर घर पहुंचा।

By Amit ranjan 
Updated Date

नई दिल्ली : “इस बार करवा चौथ का व्रत तुम्हारे लिए रखना चाहती हूंठ। यह सुनते ही प्रेमी युवक अपनी प्रेमिका के घर पहुंचा और पहले से मौजूद पति की गला दबाकर हत्या कर दी। जिसमें उस मृत युवक की पत्नी ने भी पूरा सहयोग दिया और वो इस दौरान अपने पति की छाती पर बैठी रहीं। जब प्रेमी युवक ने शख्स की गला दबा दी, उसके बाद महिला ने भी अपने पति की मौत को पुष्टि करने के लिए उसके गले को दबाया।

जानिए कहां की है ये घटना

आपको बता दें कि ये दिल दहलाने वाली घटना मध्य प्रदेश के ग्वालियर की है, जो 4 सितंबर को घटी। बता दें कि ग्वालियर जिले की चीनोर पुलिस को पुरानी नहर में 6 सितंबर की सुबह एक युवक का शव मिला था। उसके दोनों हाथों पर टैटू बने थे। शुरुआत में शव की पहचान नहीं हो पाई। जब शव का पोस्टमार्टम कराया गया तो चौंकाने वाली जानकारी सामने आई।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट से हुई पुष्टि

पोस्टमार्टम रिपोर्ट में गला दबाने से मौत होने की पुष्टी हुई। इसके बाद युवक की पहचान बेलगढ़ा थाना इलाके के देवरी कलां गांव के रहने वाले पारीक्षित रावत (30) के रूप में हुई। पता लगा कि उसकी पत्नी बसंती रावत ने थाने में गुमशुदगी दर्ज कराई है। इसके बाद जांच की तो पुलिस को कई सुराग मिल गए। पुलिस पूछताछ में सामने आया कि परीक्षित की हत्या उसकी पत्नी बसंती, प्रेमी मनीष रावत और उसके दोस्त रवींद्र ने की थी।

पुलिस को ऐसे हुआ मृतक की पत्नी पर संदेह

पुलिस का कहना था कि जब वह जांच के लिए घर पहुंची तो देखा कि पत्नी सभी से हंसकर बात कर रही है। इस पर थोड़ी हैरानी हुई। त्रयोदशी के बाद बसंती को पूछताछ के लिए थाने बुलाया। उसके पास दो मोबाइल थे। पुलिस ने चेक किया तो उसमें 4 सिम थे और मोबाइल के कवर में 6 सिम और मिले। पुलिस ने कॉल डिटेल निकाली तो एक नंबर पर कई बार बात हुई थी। यह नंबर मनीष रावत का निकला। पुलिस ने उसे रविवार को हिरासत में लिया और सख्ती की तो उसने जुर्म स्वीकार कर लिया। इसके बाद पुलिस ने सोमवार को बसंती और मनीष के दोस्त रवींद्र को भी गिरफ्तार कर लिया।

11 साल पहले शादी, एक साल पहले प्यार

पारीक्षित रावत (30 साल) और बसंती (29 साल) की शादी 11 साल पहले हुई थी। दोनों की 7 साल की बेटी और 5 साल का बेटा है। परीक्षित पेशे से मजदूर करता था और नशे का आदी था। नशे में धुत होकर वह बसंती के साथ मारपीट करता था। इससे बसंती तंग आ चुकी थी। इसी बीच, करीब एक साल पहले गांव के ही ITI के छात्र मनीष रावत (20) से पहचान हुई और दोस्ती हो गई। बाद में दोनों में प्यार हो गया। मौका पाकर मनीष बसंती से मिलने आने लगा। जिस समय वह आता था, बसंती बच्चों को घर के बाहर खेलने भेज देती थी।

52 दिन बाद हुआ हत्याकांड का सनसनीखेज खुलासा

बसंती का कहना था कि मनीष से उसे प्यार हो गया था। वो मेरा ख्याल रखता था। लेकिन, पारीक्षत आड़े आ रहा था। 4 सितंबर की रात पारीक्षित नशे में धुत होकर घर पहुंचा। इस बीच, बसंती ने मनीष को कॉल कर कहा कि इस बार का करवाचौथ का व्रत इसके लिए नहीं रखना चाहती। यह सुनते ही मनीष घर पहुंच गया। बसंती ने दोनों बच्चों को मोबाइल दिया और गेम खेलने का कहकर भेज दिया। इसके बाद वह पति के सीने पर बैठ गई और प्रेमी ने गला दबा दिया। फिर पत्नी ने भी गला दबा कर हत्या कर दी।

दोस्त को बुलाया और बाइक से नहर में फेंका शव

बसंती का कहना था कि रात ज्यादा हो गई थी और मनीष अकेले शव को ठिकाने नहीं लगा पा रहा था। ऐसे में लाश को घर में ही रखा। उसने पति को चादर ओढ़ा दिया। फिर अपने पति की लाश के ऊपर ही खाट बिछाई और रातभर आराम से सोती रही। दूसरा दिन भी गुजर गया। रात में मनीष फिर से बसंती के घर पहुंचा और अपने एक दोस्त रविंद्र को भी बुला लिया। दोनों ने पारीक्षित की लाश को बाइक पर रखा और 4 किमी दूर बड़ी नहर में फेंक दिया, जिसे पुलिस ने 6 सितंबर को बरामद कर लिया। पुलिस ने पत्नी बसंती, प्रेमी मनीष समेत रविंद्र को गिरफ्तार कर लिया है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...