Home विचार पेज विदेश : जानिये 2019 की 5 बड़ी घटनाओं के बारे में

विदेश : जानिये 2019 की 5 बड़ी घटनाओं के बारे में

6 second read
0
27
know-5-big-incident-in-world-in-2019

2019 में वैश्विक उठापटक की कई घटनाएं ऐसी हैं जिनसे दुनिया की दशा-दिशा बदल गयी और इन घटनाओं से दुनिया को देखने का नजरिया बदल गया तो पढ़िए 2019 की 5 बड़ी घटनाएं।

1 – हांगकांग में प्रदर्शन जारी, घबराया चीन :

Image result for हांगकांग में प्रदर्शन जारी

हांगकांग के इतिहास में शायद ये पहली बार हुआ जब वहां के शांतिप्रिय लोग चीन की नीति के खिलाफ सड़कों पर उतरे औऱ लोकतंत्र की मांग की, पहले प्रदर्शनकारियों ने संसद का घेराव किया और इतना ही नहीं दुनिया के सबसे बड़े हांगकांग के हवाई अड्डे को भी जाम किया।

बता दे की ये प्रदर्शन अब भी जारी है, हजारों की संख्या में लोग चीन की सरकारों के खिलाफ आक्रामक प्रदर्शन कर रहे है और इससे चीनी प्रशासन हिल गया है , पिछले कई दिनों से हांगकांग में जो प्रदर्शन चल रहा है उसके पीछे चीनी सरकार की नीति का हाथ है जिसने एक बार फिर हांगकांग में रह रहे लोकतंत्र समर्थक लोगों को चीन के खिलाफ आवाज उठाने का मौका दे दिया है.

पिछले दिनों हांगकांग प्रशासन एक विधेयक लेकर आय़ा था, हांगकांग का कोई व्यक्ति चीन में कोई अपराध करता है या प्रदर्शन तो उसके खिलाफ हांगकांग में नहीं चीन में मुकदमा चलाया जाएगा, हांगकांग की युवा आबादी को लगा कि चीन की कम्यूनिस्ट पार्टी  इस विधेयक के जरिए हांगकांग में अपना दबदबा कायम करना चाहती है।

2 – अमेरिका-चीन टैरिफ वॉर :

Image result for अमेरिका-चीन टैरिफ वॉर

डोनाल्ड ट्रंप का एक डायलॉग काफी लोकप्रिय है जिसमें उन्होंने साल 2017 में अपने सलाहकारों से कहा था-आई वॉन्ट टैरिफ्स, अमेरिकी प्रशासन ने उनकी बात मानी और उनके नक्शेकदम पर चल पड़ा और साल 2018 में शुरू हुआ टैरिफ वॉर 2019 में अपने विकराल रूप में आया।

चीनी सामानों पर 50 अरब डॉलर के टैरिफ से शुरू हुआ यह कारोबारी युद्ध 250 अरब डॉलर तक पहुंच गया, हालांकि ट्रंप ने जिस मंशा से टैरिफ लगाया उसका असर ठीक उलटा हुआ। टैरिफ वॉर से चीन से ज्यादा घाटा अमेरिका को हुआ वही चीन की भी आर्थिक दशा गड़बड़ा गयी और उधर पूरी दुनिया में सस्ते सामान की झड़ी लगाने वाला चीन भी बैकफुट पर आ गया।

इसका दूरगामी असर उन देशों पर पड़ा जहां चीनी सामान आयात होते हैं और कहा जाता है कि दुनिया में अभी मंदी की जो झलक दिख रही है उसके पीछे यही टैरिफ वॉर है.अमेरिका से शुरू हुआ इसका प्रभाव पूरी दुनिया में पसर चुका है.

दुनिया के स्टॉक मार्केट धराशायी हुए, अमेरिका का व्यापार घाटा बढ़ गया, अमेरिकी कारोबारियों ने निर्यात शुल्क बढ़ा दिए जिससे अमेरिकी किसानों को विदेशी बाजार मिलने में दिक्कतें आने लगीं,अमेरिका-चीन के इस जंग में दुनिया के छोटे बड़े देश पिसते गए और इसका दंश अब भी जारी है.

3 – आतंक का आका बगदादी ढेर :

Image result for आतंक का आका बगदादी ढेर

जिनके हाथ हजारों बेगुनाहों के खून से रंगे थे और जिसे दुनिया का सबसे खतरनाक आतंकी माना जाता था वो बगदादी आखिरकार अब मारा गया, अमेरिका के कमांडों ने सीरीया के इदलिब में छिपे बगदादी ढूंढ कर उसका खत्मा किया।

दुनिया के सबसे ताकतवर मुल्क के सबसे ताकतवर राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने इस बात की पुष्टि की है,उन्होंने कहा कि बगदादी नाम का खूंखार आतंकी अब इस दुनिया से खत्म हो चुका है और आतंक के सबसे बड़े आका बगदादी का वजूद दुनिया में नहीं रहा।

दरअसल बगदादी का खात्मा जिस तरह हर देशों के लिए जरुरी था उतना ही भारत के लिए भी, आईएसआईएस को दुनिया का सबसे खतरनाक संगठन माना जाता है और बगदादी इसी संगठन का सरगना था लेकिन शनिवार 26 अक्टूबर की रात बगदादी की आखिरी रात साबित हुई.

4 – श्रीलंका आतंकी हमला :

Image result for श्रीलंका आतंकी हमला

न्यूज़ीलैंड की पहचान दुनिया भर में अमन शांति वाले देश के रूप में होती है लेकिन अचानक ही इस मुल्क के खूबसूरत शहर क्राइस्टचर्च के दो इबादतगाहों में लाशों के ढेर लग गए और देखते ही देखते खुदा की इबादत करने आए 49 नमाजियों की लाशें मस्जिद में बिछ गई और ये हादसा लोगों के जहन से निकला ही नहीं था कि आतंकियों ने अपना दूसरा निशाना श्रीलंका को बनाया.

अचानक श्रीलंका गोलियों की बौछार और बम के विस्फोट से गूंज उठा, लोगों को जब तक पता चलता कि ये आतंकी हमला है तब तक 350 लोग मौत की नींद सो चुके थे, आतंकियों ने ईसाई समुदाय के साथ कई चर्चों को अपना निशाना बनाया और साथ ही शहर इस हमले से दहल उठाऔर देखते ही देखते सिलसिलेवार ढंग से बम विस्फोट हो गए.

वहीं इस दर्दनाक घटना की जिम्मेदारी ISIS ने ली, फिलहाल इस खौफनाक घटना को हुए करीब आठ महीने गुजर चुके है लेकिन इस आतंकी हमले में मारे गए लोगों के परिजन अभी भी इंसानियत के उन दुश्मनों से ये सवाल कर रहे है कि आखिर उनके अपनों ने कौन सा गुनाह किया था जिसकी उनको इतनी दर्दनाक सजा दी गई।

5 – सऊदी अरब सरकार का बड़ा फैसला :

Image result for सऊदी अरब में महिलाओं को अकेले रेस्तरां

सऊदी अरब में महिलाओं को अकेले रेस्तरां में जाने का अधिकार नहीं था लेकिन कानूनी तौर पर किसी महिला को अकेले रेस्तरां में प्रवेश करने पर प्रतिबंध था और वे किसी आदमी और रिश्तेदार के साथ ही रेस्तरां में प्रवेश कर सकती थी लेकिन सऊदी हुकूमत ने अब इस प्रतिबंध को हटा लिया है लेकिन अभी भी सऊदी अरब में महिलाएं अधिकार से वंचित है।

दरअसल सऊदी में महिला अभिभावक की अनुमति के बिना शादी नहीं कर सकती है वही महिलाएं तलाक नहीं दे सकती और ना तलाक दे सकती है और पुरुष रिश्तेदारों से घुलमिल नहीं सकती, अगर ऐसा करती है तो दण्ड में महिलाओं को जेल मिलती है।

उनके लिए यह भी नियम है की सावर्जनिक स्थानों पर सिर से लेकर पांव तक ढंका हो वही सऊदी की महिलाएं व्यवसाय खुद नहीं कर सकती वही इसके साथ ही इस कानून के अमल में आने के साथ सऊदी में अब जेंडर के आधार पर होटल में अलग-अलग प्रवेशद्वार की जरूरत नहीं होगी।

दरअसल सऊदी अरब में अब पुरुषों और महिलाओं के बीच होने वाले भेदभाव को खत्म करने का प्रयास किया जा रहा है, सऊदी अरब में लगातार कानूनों में बदलाव किए जा रहे हैं.

Share Now
Load More In विचार पेज
Comments are closed.