1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. कौशांबी : पहले बेटे की बलि दी फिर जिंदा करने के लिए शौहर का कत्ल

कौशांबी : पहले बेटे की बलि दी फिर जिंदा करने के लिए शौहर का कत्ल

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

कौशांबी : जहाँ तंत्र-मंत्र के चक्कर में हुई पिता-पुत्र की हत्या का पुलिस ने 24 घंटे के अंदर चौंकाने वाला खुलासा किया है। डबल मर्डर का खुलास करते हुए कौशांबी पुलिस ने मृतक वकील अहमद उर्फ नौशे की पत्नी गुलनाज, गुलनाज की बहन नूरी व बहनोई सफदर अली उर्फ बब्लू और उसके बेटे अनस को पिपरी के तेवारा मोड़ से गिरफ्तार किया है।

पुलिस ने बताया कि नौशे की पत्नी ने ही अमीर होने के लिए अपनी तांत्रिक बहन, बहनोई और उनके बेटे के साथ मिलकर शौहर और अपने बेटे की की हत्या की थी।

कौशांबी जिले के एसपी अभिनंदन ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में जानकारी देते हुए बताया कि 32 वर्षीय नौशे कपड़े की सिलाई कर परिवार का पेट भरता था, लेकिन लॉकडाउन के बाद आर्थिक हालत खराब हो गई।

गिरफ्त में आई नौशे की पत्नी गुलनाज ने पुलिस को पूछताछ में बताया कि उसकी बहन नूरी और बहनोई ने गरीबी का हवाला देते हुए तंत्र विद्या के माध्यम से रातोंरात अमीर बनाने का सपना दिखाया था। इसके लिए वह अक्सर उसके घर आया करते थे। घटना वाली रात भी गुलनाज का बहनोई सफदर अली उर्फ बब्लू अपनी पत्नी नूरी और बेटे अनस के साथ आया था।

तंत्र-क्रिया करने से पहले बहनोई सफदर के कहने पर गुलनाज अपनी दोनों बेटियों को जेठानी शकीना के घर छोड़ आई थी। फिर शुक्रवार रात आठ बजे के बाद घर में तंत्र क्रिया शुरू हुई।

इस दौरान घर में गड्ढा खोदकर टोटका किया और फिर सफदर के कहने पर गुलनाज ने बेटे अनवर की गला दबा कर बलि दे दी। बेटे की बलि देने के बाद तांत्रिक बब्लू ने उसको जिंदा करने के लिए नौशे की आंत निकालने का हवाला दिया। इसके बाद सभी ने मिलकर पहले मृतक नौशे को बेहोश किया और फिर चाकू से नौशे की आंत निकाल ली।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...