Home बड़ी खबर काम के नाम पर वोट मांगना कांग्रेस की संस्कृति नहीं: जेपी नड्डा

काम के नाम पर वोट मांगना कांग्रेस की संस्कृति नहीं: जेपी नड्डा

1 second read
0
74

हिमाचल प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की सरकार को दो साल पूरे हो गए हैं। इस मौके पर बीजेपी के कार्यकारी अध्यक्ष जय प्रकाश नड्डा ने अनुच्छेद 370 को लेकर कहा कि, अमित शाह ने अनुच्छे0 370 को धाराशाही कर दिया।

अमित शाह ने किया अनुच्छेद 370 को धराशाही

उन्होंने कहा कि, अपने जीवन हम सब एख नारा लगाते थे कि एक देश में दो निशान, दो प्रधान, दो संविधान नहीं चलेंगे। पीएम नरेन्द्र मोदी जी की इच्छाशक्ति के कारण श्री अमित शाह जी ने अनुच्छेद 370 को धराशाही कर दिया।

नागरिकता बिल को लाने कि किसी में इच्छाशक्ति नहीं थी

नागरिकता संशोधन बिल को लेकर जेपी नड्डा ने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि, सब चाहते थे कि नागरिकता संशोधन बिल आना चाहिए, लेकिन किसी में इच्छाशक्ति नहीं थी। पीएम नरेन्द्र मोदी जी ने इच्छाशक्ति दिखाई और इसके सूत्रधार बने श्री अमित शाह जी और नागरिकता संशोधन कानून 2019 लागू हो पाया।

कांग्रेस सरकार की संस्कृति ही नहीं थी कि काम के नाम पर वोट मांग सके

वहीं, उन्होंने यह भी कहा कि जनता के दरबार में सरकार का रिपोर्ट कार्ड देने की प्रथा भाजपा के अलावा किसी और पार्टी की सरकार में नहीं देखी गयी। कारण ये था कि कांग्रेस सरकार की ये संस्कृति ही नहीं थी कि एक बार वोट लेकर दोबारा काम के आधार पर वोट ले सकें।

अटल जी ने हिमाचल को दिया था इकोनॉमिक पैकेज

अटल बिहारी वाजपेयी जी ने हिमाचल को इकोनॉमिक पैकेज दिया था, जिससे यहां विकास के बहुत सारे कार्य हुए। लेकिन जब यहां कांग्रेस की सरकार आई तो, जो पैकेज 10 साल के लिए दिया गया था, उन्होंने 7 साल में ही उस पैकेज को वापस ले लिया और उसे समाप्त कर दिया।

बीजेपी ने हिमाचल को दिया स्पेशल कैटेगरी स्टेट का दर्जा

जब कांग्रेस पार्टी की सरकार थी तो, हिमाचल को स्पेशल कैटेगरी स्टेट की लिस्ट से निकाल दिया गया था। लेकिन जब आपने 2014 में दिल्ली में मोदी जी की सरकार बनायी तो, उन्होंने बिना मांगे हिमाचल को स्पेशल कैटेगरी स्टेट का दर्जा दे दिया।

Share Now
Load More In बड़ी खबर
Comments are closed.