Home Breaking News आतंकवाद पर नकेल कसने के लिए सरकार ने आईपीएस विजय कुमार को कश्मीर भेजा

आतंकवाद पर नकेल कसने के लिए सरकार ने आईपीएस विजय कुमार को कश्मीर भेजा

2 second read
0
36

जम्मू-कश्मीर में राज्यपाल शासन लागू होने के बाद अब राज्यपाल एनएन वोहरा ने सुरक्षा उपायों की समीक्षा करते हुए चंदन तस्कर वीरप्पन का खात्मा करने वाले आईपीएस विजय कुमार को अपना एक सलाहकार नियुक्त किया। एक सरकारी विज्ञप्ति के मुताबिक छत्तीसगढ़ कैडर के वरिष्ठ आईएएस अधिकारी बीवी आर सुब्रमण्यम को बी बी व्यास की जगह मुख्य सचिव नियुक्त किया गया। व्यास और पूर्व आईपीएस अधिकारी विजय कुमार (65) को राज्यपाल का सलाहकार नियुक्त किया गया है।

आपको बता दें कि विजय कुमार जंगल में उग्रवाद निरोधक अभियान चलाने में माहिर माने जाते हैं। जम्मू-कश्मीर में राज्यपाल शासन लागू होने के बाद केंद्रीय गृह मंत्रालय ने दोनों सलाहकारों के नाम पर मंजूरी दी। तमिलनाडु कैडर के 1975 बैच के आईपीएस अधिकारी रहे कुमार 1998-2001 में बीएसएफ के महानिरीक्षक (आईजी) के तौर पर कश्मीर घाटी में अपनी सेवाएं दे चुके हैं। उस वक्त बीएसएफ घाटी में आतंकवाद निरोधक अभियानों में काफी सक्रिय था। कुमार उस वक्त सुर्खियों में आए थे जब उनकी अगुवाई वाली एसटीएफ ने कुख्यात चंदन तस्कर वीरप्पन को अक्टूबर 2004 में तमिलनाडु में हुई एक मुठभेड़ में मार गिराया था। बाद में कुमार को दुनिया के सबसे बड़े अर्धसैनिक बल सीआरपीएफ का महानिदेशक बनाया गया था।

वर्ष 2010 में छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में नक्सली हमले में सीआरपीएफ के 75 जवानों के शहीद होने के बाद कुमार को इस बल का डीजी बनाया गया था। वहीं राजभवन के प्रवक्ता ने बताया कि राज्यपाल और थलसेना कमांडर ने घाटी में सुरक्षा प्रबंधन में बेहद करीबी समन्वय की जरूरत से जुड़े कुछ मुद्दों पर चर्चा की। इस बीच केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि केंद्र आतंकवाद का खात्मा कर कश्मीर में शांति कायम करना चाहता है। उन्होंने लखनऊ में एक कार्यक्रम में कहा था कि हमारा एकमात्र उद्देश्य है कि आतंकवाद खत्म होना चाहिए और कश्मीर में शांति कायम होनी चाहिए। हमारी सरकार यह ध्यान में रखकर काम करेगी।

Load More In Breaking News
Comments are closed.