1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. बर्बरता : दिल्ली-हरियाणा के सिंघु बॉर्डर पर युवक की बेरहमी से हत्या, हाथ-पैर काटकर शव को बैरिकेड से लटकाया

बर्बरता : दिल्ली-हरियाणा के सिंघु बॉर्डर पर युवक की बेरहमी से हत्या, हाथ-पैर काटकर शव को बैरिकेड से लटकाया

Brutal murder of a young man on the Singhu border of Delhi-Haryana; दिल्ली-हरियाणा सिंघु बॉर्डर पर आज सुबह एक युवक का शव बैरिकेड से लटके मिला। इस युवक की बेरहमी से हत्या की गई थी। इस हत्या का आरोप निहंगों पर लगा है।

By Amit ranjan 
Updated Date

नई दिल्ली : दिल्ली-सिंघु बॉर्डर पर किसान लगातार पिछले कई दिनों से तीन कृषि कानूनों को लेकर प्रदर्शन कर रहे है। और लगातार सरकार पर हमलावर है। इसी बीच सिंघु बॉर्डर से एक ऐसी तस्वीर सामने आई है, जिसने फिर किसान आंदोलन पर सवाल खड़े कर दिये है। और लोग ये कहने को मजबूर हो गए है की ये किसान नहीं है जो प्रदर्शन कर रहे है। ये एक हिंसा और अराजकता के चेहरे है, जिसे हमने गणतंत्र दिवस के दिन भी देखा था।

इस पर लगा हत्या का आरोप

आपको बता दें कि दिल्ली-हरियाणा के सिंघु बॉर्डर (Man murdered at Singhu Border) पर 35 साल के एक युवक की बेरहमी से हत्या कर शव को बैरिकेड से लटका दिया गया है। जिसमें उसके हाथ और पैर कटे हुए है। बता दें कि युवक का शव आंदोलनकारियों के मुख्य मंच के पास शुक्रवार सुबह लटका मिला। हत्या का आरोप निहंगों पर लग रहा है। युवक के शरीर पर धारदार हथियार से हमले के निशान हैं। युवक की हत्या के बाद आंदोलनकारी गुस्से में हैं।

अमित मालवीय ने किया ट्वीट

बता दें कि इस घटना के बाद घटनास्थल पर भीड़ जुट गई है। वहीं आक्रोशित भीड़ पुलिस को घटनास्थल के पास नहीं जाने दे रही है। आंदोलनकारी जमकर हंगामा कर रहे हैं। इस पूरे मामले पर बीजेपी नेता अमित मालवीय ने ट्वीट किया कि, ‘बलात्कार, हत्या, वैश्यावृत्ति, हिंसा और अराजकता… किसान आंदोलन के नाम पर यह सब हुआ है। अब हरियाणा के कुंडली बॉर्डर पर युवक की बर्बर हत्या। आखिर हो क्या रहा है? किसान आंदोलन के नाम पर यह अराजकता करने वाले ये लोग कौन हैं जो किसानों को बदनाम कर रहे हैं?’

उन्होंने अपने ट्वीट में आगे लिखा, ‘अगर राकेश टिकैत ने लखीमपुर में मॉब लिंचिंग को सही नहीं ठहराया होता, कुंडली सीमा पर एक युवक की हत्या नहीं हुई होती। किसानों के नाम पर इन विरोध प्रदर्शनों के पीछे जो अराजकतावादी हैं, उन्हें बेनकाब करने की जरूरत है।’

 

पुलिस अधिकारी ने क्या कहा

वहीं, मामले की जानकारी देते हुए सोनीपत के डीएसपी हंसराज ने कहा कि आज तड़के करीब 5 बजे जिस स्थान पर किसानों का विरोध प्रदर्शन चल रहा है (कुंडली, सोनीपत) उस स्थान पर एक शव हाथ, पैर कटा हुआ पाया गया। कौन जिम्मेदार है इसकी जानकारी नहीं है। अज्ञात के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है। वायरल वीडियो की भी जांच का विषय है।

इस बीच, तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ 40 किसान संगठनों के आंदोलन का नेतृत्व करने वाले संयुक्त किसान मोर्चा (एसकेएम) ने पूरी घटना से खुद को दूर कर लिया है। किसान संगठन ने कहा कि वह आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई के लिए हरियाणा सरकार के साथ सहयोग करने को तैयार है। एसकेएम ने घटना के लिए निहंगों को जिम्मेदार ठहराया है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...