1. हिन्दी समाचार
  2. Breaking News
  3. उत्तराखंड: मरने वालों की संख्या 34 हुई, सीएम पुष्कर सिंह धामी ने प्रभावित परिवारों के लिए की मुआवजे का ऐलान

उत्तराखंड: मरने वालों की संख्या 34 हुई, सीएम पुष्कर सिंह धामी ने प्रभावित परिवारों के लिए की मुआवजे का ऐलान

मीडिया को संबोधित करते हुए, सीएम पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि,"अब तक हमें जानकारी मिली है कि 34 लोगों की जान चली गई है और पांच अभी भी लापता हैं। मृतक व्यक्तियों के परिजनों को 4 लाख रुपये की अनुग्रह राशि दी जा रही है। का मुआवजा क्षतिग्रस्त हुए घरों के मालिकों को 1.09 लाख रुपये और 95,000 रुपये दिए जा रहे हैं। इसके अलावा, जिन परिवारों के घर में पानी आया है, उन्हें 5,000 रुपये प्रदान किए जाएंगे। इसके अलावा, मवेशियों के नुकसान का मुआवजा भी दिया जाएगा।'

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

रिपोर्ट: अनुष्का सिंह

 

नई दिल्ली: उत्तराखंड में मंगलवार को राज्य के विभिन्न हिस्सों में लगातार बारिश के कारण हाहाकार मचा हुआ है। जिससे कई घर मलबे में तब्दील हो गए। और इस मलबे में दब जाने से 23 लोगों की मौत हो गई। बता दें कि मरने वाले लोगों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है, जिसमें से अधिकतर संख्या उत्तराखंड के कुमाऊं से है। स्टेट इमरजेंसी ऑपरेशन सेंटर के मुताबिक, सोमवार को पांच लोगों की मौत हुई।

SEOC ने कहा कि मंगलवार को नैनीताल से अठारह, अल्मोड़ा से तीन और चंपावत और उधम सिंह नगर जिलों में एक-एक व्यक्ति की मौत हुई। नैनीताल में, कांची धाम, चौखुटा और रामगढ़ गांवों में भूस्खलन के बाद एक झोपड़ी सहित तीन घरों के गिरने से पांच लोग लापता हो गए। एक व्यक्ति अल्मोड़ा से और दो चंपावत जिले से लापता हो गए।

जिसके बाद मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के साथ कुमाऊं क्षेत्र के वर्षा प्रभावित इलाकों के दौरे पर गए। पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार ने कहा कि नैनीताल के काठगोदाम, लालकुआं और उधम सिंह नगर के रुद्रपुर में सड़कें, पुल और रेलवे ट्रैक क्षतिग्रस्त हो गए हैं। कुमार ने बताया कि क्षतिग्रस्त पटरियों की मरम्मत में कम से कम चार-पांच दिन लगेंगे।

बता दे कि नैनीताल राज्य के बाकी हिस्सों से दूसरे दिन भी कटा रहा क्योंकि भूस्खलन से जिले की ओर जाने वाले तीन रास्ते अवरुद्ध हो गए थे। जिले के माल रोड और नैनी झील के किनारे स्थित नैना देवी मंदिर में पानी भर गया, जबकि भूस्खलन के कारण एक छात्रावास की इमारत क्षतिग्रस्त हो गई। रामनगर-रानीखेत मार्ग पर लेमन ट्री रिजॉर्ट में उफान पर कोसी नदी का पानी रिजॉर्ट में प्रवेश करने के बाद करीब 100 लोग फंसे हुए हैं। नैनीताल में बिजली, दूरसंचार और इंटरनेट कनेक्टिविटी भी बुरी तरह प्रभावित हुई है।

भारतीय वायु सेना  के तीन हेलीकॉप्टर राज्य में पहुंच गए हैं। और राहत और बचाव कार्यों में सहायता कर रहे हैं। धामी ने कहा कि उनमें से दो को नैनीताल जिले में तैनात किया गया है, जिसमे बादल फटने और भूस्खलन के कारण व्यापक नुकसान हुआ है। उन्होंने कहा कि तीसरा हेलीकॉप्टर गढ़वाल क्षेत्र में बचाव अभियान में मदद कर रहा है। उन्होंने कहा कि फंसे हुए लोगों को सुरक्षित निकालने पर ध्यान दिया जा रहा है।

गौरतलब है कि मीडिया को संबोधित करते हुए, सीएम पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि,”अब तक हमें जानकारी मिली है कि 34 लोगों की जान चली गई है और पांच अभी भी लापता हैं। मृतक व्यक्तियों के परिजनों को 4 लाख रुपये की अनुग्रह राशि दी जा रही है। का मुआवजा क्षतिग्रस्त हुए घरों के मालिकों को 1.09 लाख रुपये और 95,000 रुपये दिए जा रहे हैं। इसके अलावा, जिन परिवारों के घर में पानी आया है, उन्हें 5,000 रुपये प्रदान किए जाएंगे। इसके अलावा, मवेशियों के नुकसान का मुआवजा भी दिया जाएगा।’

साथ ही मुख्यमंत्री ने लोगों से ना घबराने की अपील की क्योंकि खतरे में पड़े लोगों की जान बचाने के लिए हर संभव कदम उठाए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि मौसम विभाग ने मंगलवार शाम से मौसम की स्थिति में सुधार की भविष्यवाणी की है।

धामी ने चारधाम यात्रा के तीर्थयात्रियों से अपनी अपील दोहराई कि वे जहां हैं वहीं रहें और मौसम में सुधार होने से पहले अपनी यात्रा फिर से शुरू न करें। उन्होंने चमोली और रुद्रप्रयाग के जिलाधिकारियों से चारधाम यात्रा मार्ग पर फंसे तीर्थयात्रियों का विशेष ध्यान रखने को भी कहा।

SEOC  ने कहा कि राज्य में ज्यादातर नदियां उफान पर हैं. हरिद्वार में गंगा का जलस्तर 293.90 मीटर तक पहुंच गया है, जो खतरे के निशान 294 मीटर से एक डिग्री नीचे है.

पिथौरागढ़ में काली और सरयू नदियां क्रमश: 890 मीटर और 453 मीटर के खतरे के निशान पर पहुंच गई हैं. गोरी नदी 606.75 मीटर पर खतरे के निशान के करीब बह रही है।

SEOC  ने कहा कि नैनीताल में 90 मिमी, हल्द्वानी में 128 मिमी, कोश्याकुटोली में 86.6 मिमी, अल्मोड़ा में 216. 6 मिमी, द्वाराहोट में 184 मिमी और जागेश्वर में 176 मिमी बारिश हुई।

 

 

 

 

 

 

 

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...