1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. बीएसएफ का तीन राज्यों में अधिकार क्षेत्र बढ़ाने के फैसले पर आमने-सामने आये कांग्रेस के दो दिग्गज नेता, जानिए क्यों बढ़ा बवाल

बीएसएफ का तीन राज्यों में अधिकार क्षेत्र बढ़ाने के फैसले पर आमने-सामने आये कांग्रेस के दो दिग्गज नेता, जानिए क्यों बढ़ा बवाल

Two veteran Congress leaders came face to face on BSF's decision to increase jurisdiction in three states; केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा बीएसएफ के अधिकार क्षेत्र में बदलाव करने के बाद एक तरफ जहां पंजाब सीएम चरणजीत सिंह चन्नी इस बात का विरोध कर रहे है। वहीं पूर्व पंजाब सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने इस बिल का समर्थन किया है।

By Amit ranjan 
Updated Date

नई दिल्ली: सीमा सुरक्षा बल (BSF) के अधिकार क्षेत्र को बढ़ाने को लेकर केंद्रीय गृह मंत्रालय के फैसले के बाद सियासी बवाल तेज हो गया है। उस पर पंजाब के दो बड़े नेता आमने-सामने हैं, जिससे फिर एक बकर लड़ाई कांग्रेस बनाम ‘कांग्रेस’ की हो गई है। जहां पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने केंद्रीय गृह मंत्रालय के फैसले का जमकर समर्थन किया है।वहीं दूसरी ओर राज्य के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने इसको लेकर सवाल उठाए हैं।

चरणजीत सिंह ने खड़े किये केंद्र पर सवाल

पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने केंद्र के इस कदम को ‘संघीय ढांचे पर सीधा हमला’ करार दिया है। मुख्यमंत्री ने एक ट्वीट में कहा कि, “मैं भारत सरकार के एकतरफा फैसले की कड़ी निंदा करता हूं, जिसमें अंतर्राष्ट्रीय सीमाओं से लगे 50 किलोमीटर के दायरे में बीएसएफ को अतिरिक्त शक्तियां देने का फैसला किया गया है, जो संघवाद पर सीधा हमला है। मैं केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से इस तर्कहीन फैसले को तुरंत वापस लेने का आग्रह करता हूं।”

अमरिंदर सिंह ने किया केंद्र सरकार का समर्थन

बीएसएफ के अधिकार क्षेत्र में बदलाव का मौजूदा पंजाब सरकार विरोध कर रही है, लेकिन पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने बीएसएफ को सशक्त बनाने के केंद्र के कदम का समर्थन किया है। अमरिंदर सिंह ने कहा, “हमारे सैनिक कश्मीर में मारे जा रहे हैं। हम पाकिस्तान समर्थित आतंकवादियों द्वारा पंजाब में अधिक से अधिक हथियारों और ड्रग्स को धकेलते हुए देख रहे हैं। बीएसएफ की बढ़ी हुई उपस्थिति और शक्ति ही हमें मजबूत बनाएगी। कृपया, केंद्रीय सशस्त्र बलों को राजनीति में न घसीटें।”

बीएसएफ का बढ़ा अधिकार क्षेत्र

बता दें कि गृह मंत्रालय ने एक आधिकारिक आदेश जारी कर तीन राज्यों में बीएसएफ के अधिकार क्षेत्र को 35 किलोमीटर बढ़ा दिया है, जबकि दूसरे में इसे 30 किलोमीटर कम कर दिया है। आदेश के अनुसार, सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) को अब भारत की सीमाओं से लगे पंजाब, पश्चिम बंगाल और असम में 50 किलोमीटर के दायरे में कार्रवाई करने का अधिकार दिया गया है।

पहले लागू था ये नियम

आपको बता दें कि पहले इन राज्यों में केवल 15 किमी तक बीएसएफ का अधिकार क्षेत्र था। गुजरात में, अधिकार क्षेत्र, जो पहले 80 किलोमीटर था, अब 50 किलोमीटर तक कम कर दिया गया है, जबकि राजस्थान के लिए कोई बदलाव नहीं किया गया है, जहां बीएसएफ का अधिकार क्षेत्र 50 किलोमीटर तक है। मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा, नगालैंड, मेघालय और जम्मू-कश्मीर के लिए पूरे राज्य में सीमा सुरक्षा बल का अधिकार क्षेत्र एक समान रहता है।

सीमा सुरक्षा बल अधिनियम, 1968 की धारा 139 केंद्र को समय-समय पर बीएसएफ के क्षेत्र और संचालन की सीमा को अधिसूचित करने का अधिकार देती है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...