1. हिन्दी समाचार
  2. patana
  3. राज्यों में कोरोना का असर हुआ तेज,कई राज्यों में नई पाबंदियां, जानिए अपने शहर का क्या है हाल!

राज्यों में कोरोना का असर हुआ तेज,कई राज्यों में नई पाबंदियां, जानिए अपने शहर का क्या है हाल!

Covid-19 Statewise Restrictions: कोरोना के बढ़ते मामलों ने टेंशन बढ़ा दी है। इसे रोकने के लिए राज्‍य फिर तरह-तरह की बंदिशें लगाने लगे हैं। वीकेंड और नाइट कर्फ्यू के अलावा कई और सख्‍त कदम उठाए जा रहे हैं।

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

रिपोर्ट- धीरज मिश्रा

नई दिल्‍ली: देशभर में कोरोना के मामलों में इजाफा हुआ है। इसे लेकर राज्‍य सरकारें अलर्ट हो गई हैं। पाबंदियों का दौर दोबारा लौटने लगा है। राजधानी दिल्‍ली के बाद उत्‍तर प्रदेश में भी वीकेंड कर्फ्यू लगाए जाने पर विचार हो रहा है। पश्चिम बंगाल ने दिल्‍ली और मुंबई से आने वाली फ्लाइटों की सीमा दोबारा तय कर दी है। मुंबई की मेयर ने साफ कर दिया है कि शहर में रोजाना मामलों के 20,000 से अधिक होने पर लॉकडाउन लगाया जाएगा। कई राज्‍यों ने पहले ही नाइट कर्फ्यू लगा दिया है। आइए, यहां जानते हैं कि राज्‍यों ने कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए अपने-अपने यहां क्‍या कदम उठाए हैं।

राजधानी, दिल्‍ली में कोरोना केस की रफ्तार तेज होते ही वीकेंड कर्फ्यू का ऐलान हो गया है। वायरस के नए वेरिएंट ओमीक्रोन के बढ़ते प्रकोप के मद्देनजर दिल्‍ली में पहले से ही नाइट कर्फ्यू लगा हुआ है। लेकिन, संक्रमितों की संख्या में तेज इजाफे के बीच हुई दिल्ली डिजास्टर आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (DDMA) की मीटिंग में शनिवार और रविवार को भी कर्फ्यू लगाने का फैसला किया गया है। पूरी दिल्ली में हर शनिवार और रविवार को दिन में भी कर्फ्यू लागू रहेगाहर रात 10 बजे से 5 बजे का नाइट कर्फ्यू पहले से ही लागू है। यानी अब हर हफ्ते शुक्रवार रात 10 बजे से लागू कर्फ्यू लगातार सोमवार सुबह 5 बजे तक जारी रहेगा।

नियमों के अनुसार, शनिवार-रविवार को गैर-जरूरी काम से बाहर निकलने की अनुमति नहीं होगीअनिवार्य कामों से घर से निकलने की अनुमति होगी। अनिवार्य सेवाओं को छोड़कर सभी दफ्तरों के सरकारी कर्मचारी घर से काम (वर्क फ्रॉम होम) करेंगे। बसों और मेट्रो में एक सीट छोड़कर एक सीट पर बैठने का फैसला वापस ले लिया गया। अब हर सीट पर यात्रियों के बैठने की अनुमति होगी। यानी, दिल्ली में मेट्रो और बसें पूरी क्षमता के साथ चलेंगी। प्राइवेट दफ्तरों में क्षमता की आधी संख्या में ही कर्मचारियों को बुलाया जाएगाअनिवार्य सुविधाओं, मसलन खाना, सब्जी आदि की बिक्री नहीं रोकी जाएगी।

महाराष्‍ट्र में दोबारा तेजी से कोरोना फैल रहा हैराज्‍य के कई मंत्री और विधायक भी संक्रमित हो चुके हैं। इसे देखते हुए हाल में विधानसभा सत्र की अवधि घटा दी गई। खुली या बंद जगह 50 लोगों के जुटने की सीमा तय कर दी गई है। राज्‍य में पुणे और मुंबई जैसे शहरों के हालात काफी बिगड़ गए हैं। पुणे में मंगलवार को 1,104 कोविड के मामले सामने आए हैं। पॉजिटिविटी रेट 18 फीसदी हो गई। पुणे में 1-8 तक के क्‍लास 30 जनवरी तक बंद करने का फैसला लिया गया है। क्‍लासेज ऑनलाइन चलेंगी। बुधवार से पब्लिक प्‍लेस में मास्‍क नहीं पहनने पर 500 रुपये फाइन लगेगा। खुले में थूकने पर 1,000 रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा।

वहीं, मुंबई की मेयर किशोरी पेडणेकर ने साफ कर दिया है कि अगर आर्थिक राजधानी में डेली कोरोना केस की संख्‍या 20 हजार के ऊपर जाती है तो लॉकडाउन लगाया जाएगा। यानी शहर पर दोबारा लॉकडाउन का खतरा मंडराने लगा है।

बिहार में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए प्रदेश सरकार ने नई गाइडलाइंस जारी की हैं। अगले आदेश तक सीएम का जनता दरबार स्थगित रहेगा। सीएम नीतीश कुमार की समाज सुधार यात्रा स्थगित हो गई है। पूरे बिहार में रात 8 बजे तक ही दुकानें खुलेंगी। आवश्यक सेवाओं की दुकानें खुली रहेंगी। रात 10 बजे से सुबह 5 बजे तक नाइट कर्फ्यू लागू है। 9वीं से 12वीं तक की कक्षा आधी उपस्थिति के साथ चलेंगी। 8वीं तक की कक्षाएं ऑनलाइन चलेंगी। सरकारी और गैर सरकारी ऑफिस 50 फीसदी कर्मचारियों के साथ चलेंगे। बाहरी लोगों के ऑफिस में आने पर पाबंदी होगी। सभी पूजा स्थल श्रद्धालुओं के लिए बंद रहेंगे। मंदिरों में केवल पुजारी ही पूजा कर सकेंगे। सिनेमा हॉल, जिम, पार्क, क्लब बंद रहेंगे।

पश्चिम बंगाल में 28 दिसंबर से कोविड –19 के मामलों में भारी बढ़ोतरी दर्ज की गई है। राज्य के स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, सोमवार को संक्रमण दर बढ़कर 19.59 फीसदी हो गई। स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार, पश्चिम बंगाल और पूर्वी भारत का सबसे बड़ा महानगर कोलकाता कोविड –19 महामारी की तीसरी लहर की चपेट में है। इसके फरवरी तक बने रहने की आशंका है। बढ़ते मामलों को देखते हुए राज्य के सभी स्कूल और कॉलेज एक बार फिर बंद करने का फैसला लिया गया है। शॉपिंग मॉल, मार्केट कॉम्प्लेक्स, रेस्तरां और बार पर कई तरह की बंदिशें लगाई गई हैं। शॉपिंग मॉल, मार्केट कॉम्प्लेक्स, रेस्तरां और बार अपनी कुल क्षमता से केवल 50 फीसदी के साथ ही काम करेंगे। सभी सरकारी और निजी कार्यालयों में भी यह नियम लागू है। प्रशासनिक बैठकें ऑनलाइन माध्‍यम से होंगी।

हरियाणा में भी सभी स्कूल, कॉलेज और शिक्षण संस्थान बंद कर दिए गए हैं। सबसे ज्‍यादा मामले वाले जिलों में मॉल और बाजार शाम 5 बजे के बाद बंद रहेंगे। इनमें गुरुग्राम, फरीदाबाद, अंबाला, पंचकुला और सोनीपत शामिल हैं। इन 5 जिलों में सिनेमा हॉल, स्वीमिंग पूल, मनोरंजन पार्क बंद रहेंगे। वैक्‍सीन की दोनों डोज ले चुके लोगों को ही सार्वजनिक वाहनों, होटल, रेस्टोरेंट, मॉल और अनाज मंडियों में एंट्री की मंजूरी दी गई है।

 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...