1. हिन्दी समाचार
  2. Breaking News
  3. दक्षिण कश्मीर के जिला कुलगाम में आतंकियों का हमला, सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़

दक्षिण कश्मीर के जिला कुलगाम में आतंकियों का हमला, सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़

दक्षिण कश्मीर के जिला कुलगाम के ओके गांव में सुरक्षाबलों ने आतंकवादियों की घेराबंदी कर रखी है। क्षेत्र में दो आतंकवादियों की मौजूदगी की आशंका है। सुरक्षाबल जवाबी कार्रवाई से पहले आतंकवादियों से कई बार आत्मसमर्पण करने के लिए कह चुके हैं परंतु आतंकवादी जवाब में सुरक्षाबलों पर निरंतर गोलीबारी कर रहे हैं।

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

रिपोर्ट- धीरज मिश्रा

श्रीनगर: दक्षिण कश्मीर के जिला कुलगाम के ओके गांव में सुरक्षाबलों ने आतंकवादियों की घेराबंदी कर रखी है। क्षेत्र में दो आतंकवादियों की मौजूदगी की आशंका है। सुरक्षाबल जवाबी कार्रवाई से पहले आतंकवादियों से कई बार आत्मसमर्पण करने के लिए कह चुके हैं परंतु आतंकवादी जवाब में सुरक्षाबलों पर निरंतर गोलीबारी कर रहे हैं।

सुरक्षाबलों के अनुसार ये दोनों आतंकी स्थानीय हैं। फिलहाल उनकी पहचान व वे किस आतंकी संगठन से संबंधित हैं, इस बारे में कोई जानकारी नहीं है।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार मंगलवार तड़के हल्की बर्फबारी के बीच उन्हें कुलगाम के ओके गांव में कुछ आतंकवादियों की मौजूदगी की सूचना मिली। सूचना मिलते ही सुरक्षाकर्मी गांव में पहुंच गए और आतंकियों की तलाश से पूर्व उन्होंने गांव की घेराबंदी कर ली। जैसे ही उन्होंने तलाशी अभियान शुरू किया तभी एक मकान में छिपे कुछ आतंकवादियों ने सुरक्षाबलों को अपने नजदीक आते देख उन पर गोलीबारी शुरू कर दी। सुरक्षाबलों ने जवाबी कार्रवाई से पहले आतंकवादियों को आत्मसमर्पण करने का मौका दिया परंतु हर बार उन्होंने इसका जवाब गोलीबारी से किया। फिलहाल दोनों ओर से गोलीबारी का सिलसिला जारी है। घेराबंदी में दो आतंकियों के फंसे होने की सूचना है।

आपको बता दें कि गत सोमवार को कश्मीर घाटी में इस्लाम के नाम पर निर्दाेष नागरिकों का गला काटने वाले लश्कर-ए-तैयबा का डीविजनल कमांडर समीर पर्रे उर्फ बिल्लू सोमवार को सुरक्षाबलों के समक्ष पांच मिनट भी नहीं टिक पाया। एतिहासिक शालीमार बाग में सुरक्षाबलों ने उसे 72 हूरों के पास भेजने के लगभग 40 मिनट बाद उसके दूसरे साथी पाकिस्तानी हमजा को भी एक अन्य मुठभेड़ में मार गिराया। दोनों मुठभेड़ लगभग एक घंटे के अंतराल पर हुई और दोनों मुठभेड़स्थल के बीच करीब छह किलोमीटर का अंतर है। दोनों आतंकी ग्रीष्मकालीन राजधानी में एक बड़े आतंकी हमले को अंजाम देने का मौका तलाश रहे थे।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...