1. हिन्दी समाचार
  2. ताजा खबर
  3. श्रीनगर : SKIMS अस्पताल के पास सुरक्षाबलों पर फायरिंग कर भागे आतंकी, संदिग्ध की तलाश जारी

श्रीनगर : SKIMS अस्पताल के पास सुरक्षाबलों पर फायरिंग कर भागे आतंकी, संदिग्ध की तलाश जारी

Srinagar: Terrorists fled after firing on security forces near SKIMS Hospital; श्रीनगर के बेमिना इलाके में सुरक्षाबलों पर फायरिंग। SKIMS अस्पताल के पास की गई फायरिंग। सर्च अभियान के दौरान आतंकियों ने किया फायरिंग।

By Amit ranjan 
Updated Date

नई दिल्ली : श्रीनगर के बेमिना इलाके में SKIMS अस्पताल के पास आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर फायरिंग की। हालांकि इस हमले में किसी तरह का कोई नुकसान नहीं हुआ है। वहीं सुरक्षाबल इलाके को घेरकर संदिग्धों की तलाश कर रहे है। सूत्रों ने बताया है कि गोली तब चली जब सुरक्षाकर्मी आतंकियों को पकड़ने की कोशिश कर रहे थे। लेकिन आतंकी सुरक्षा कर्मियों पर फायरिंग कर के भागने में कामयाब रहे।

इस घटने के कुछ देर बाद पुलिस ने कहा कि एसकेआईएमएस अस्तपाल के पास बेमिना में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच हल्की गोलीबारी हुई। श्रीनगर पुलिस ने बताया कि आम नागरिकों का सहारा लेकर आतंकी घटनास्थल से भागने में कामयाब रहे।

अक्टूबर में हुई थी 11 आम नागरिकों की हत्या

आपको बता दें कि अक्टूबर के महीने में कश्मीर घाटी में आतंकवादियों ने 11 आम नागरिकों की हत्या कर दी थी। हालांकि जम्मू-कश्मीर के पुलिस महानिदेशक (DGP) दिलबाग सिंह ने हाल ही में कहा था कि कश्मीर में अब हालात कहीं बेहतर हैं और लोग शांति एवं विकास की दिशा में बढ़ना चाहते हैं। केंद्रशासित प्रदेश में हाल में हिंसा की घटनाओं में वृद्धि देखने को मिली थी। डीजीपी सिंह ने स्थानीय आतंकवादियों से हथियार छोड़ने की अपील की और युवाओं से किताब-कलम उठाकर जम्मू-कश्मीर की समृद्धि और प्रगति की दिशा में काम करने का आह्वान किया था।

डीजीपी ने कहा था कि, ‘‘हालात अब कहीं बेहतर हैं। अभी जो माहौल है, उसमें लोग शांति चाहते हैं और हिंसा के खिलाफ हैं। हिंसा की कुछ घटनाएं हुई हैं, लेकिन बड़ी संख्या में लोगों ने उन घटनाओं की निंदा की है। अब हालात बेहतर हैं। आपने यहां भागीदारी देखी, जो संकेत है कि लोग शांति और विकास की ओर बढ़ना चाहते हैं और हिंसा की निंदा करते हैं।’’

डीजीपी ने की अपील

डीजीपी ने स्थानीय आतंकवादियों से हथियार छोड़ने की अपील करते हुए कहा था कि न केवल वे अपनी जान से हाथ धोएंगे बल्कि वे अपने माता-पिता, समाज और लोगों के भी खिलाफ काम कर रहे हैं और हिंसा से हर कोई प्रभावित है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...