1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. सोनिया गांधी बेटी प्रियंका के साथ ED दफ्तर पहुंचीं, पढ़ें पूरी खबर

सोनिया गांधी बेटी प्रियंका के साथ ED दफ्तर पहुंचीं, पढ़ें पूरी खबर

नेशनल हेराल्ड केस में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से ईडी की पूछताछ पर कांग्रेस ने आज एकबार फिर बीजेपी सरकार पर निशाना साधा है। कांग्रेस ने नरेंद्र मोदी सरकार निशाना साधने के लिए आज अपने तीन सबसे मजबूत नेता को उतार दिया।

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

नेशनल हेराल्ड केस में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से ईडी की पूछताछ पर कांग्रेस ने आज एकबार फिर बीजेपी सरकार पर निशाना साधा है। कांग्रेस ने नरेंद्र मोदी सरकार निशाना साधने के लिए आज अपने तीन सबसे मजबूत नेता को उतार दिया। राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत, गुलाब नबी आजाद और आनंद शर्मा ने बीजेपी सरकार पर जमकर निशाना साधा।

गहलोत ने तो ईडी पर आतंक फैलाने का आरोप लगा दिया। उन्होंने कहा कि ईडी के पास तो सीबीआई से ज्यादा पावर है। वहीं, आजाद ने कहा कि केस एक है, फैमिली एक है उसमें जब बेटे राहुल गांधी से घंटों पूछताछ कर ली तो उसी केस में सोनिया गांधी को फिर से बुलाने की क्या जरूरत है?

कांग्रेस नेता और राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने कहा कि ईडी को सीबीआई से ज्यादा पावर मिली हुई है। देश के अंदर ईडी का जो आतंक है। वो आतंक मचा रखा है। सुप्रीम कोर्ट में इस मामले में केस चल रहे हैं। सुप्रीम कोर्ट में पीएमएलए को लेकर सैकड़ों केस हैं।

गहलोत ने कहा कि वह सुप्रीम कोर्ट से कहेंगे कि वह ईडी वाले केस पर जल्दी फैसला करे। उन्होंने कहा कि मौजूदा सरकार कई मुद्दों पर फेल रही है। आर्थिक स्थिति खराब हो चुकी है। लेकिन इस सरकार को इससे कोई मतलब नहीं है। सोनिया गांधी और राहुल गांधी से ईडी ने 50 घंटे से ज्यादा पूछताछ की है। सोनिया गांधी को आज फिर बुलाया है, पता नहीं वो कबतक बुलाएंगे।

आजाद ने कहा कि बीमार सोनिया गांधी को क्यों ईडी के प्रेशर झेलना पड़ रहा है। जवान लोग तो चलो ये प्रेशर झेल भी जाए लेकिन जो महिला बीमार है उसे भला बुलाकर क्या मिल रहा है। सोनिया गांधी से शेयर के बारे में पूछ रहे हैं। आपने राहुल गांधी से 5 बार पूछताछ की। ये काफी है। पहले जमाने में जंग होती थी, खुले मैदान में। उस दौरान औरत और बीमार पर हाथ नहीं उठाने की परंपरा रही थी।

ये परंपरा हमारे युद्धों में रही थी। मैं सरकार और ईडी से निवेदन करूंगा कि इस चीज को जेहन में रखें और इस हालत में सोनिया गांधी को बार-बार ईडी के सामने बुलाना उचित नहीं है। इन बेचारी औरत को क्यों परेशान कर रहे हैं। डॉक्टर उनके साथ हैं। ये काफी सबूत हैं।

कांग्रेस अध्यक्ष से सुबह 11 बजे से शुरू हुई पूछताछ दो चरणों में पूरी हुई। पहले चरण में सोनिया गांधी से ढाई घंटे तक सवाल किए गए, जिसके बाद उन्हें लंच ब्रेक दिया गया। दोपहर 3 बजे के बाद शुरु हुई पूछताछ 3:30 घंटे और चली, जिसके बाद सोनिया अपना बयान दर्ज करवाकर ईडी कार्यालय से निकल गईं।

पुलिस अधिकारी ने बताया कि कांग्रेस पार्टी को यह बताया गया था कि भारी संख्या में अकबर रोड के पास प्रदर्शन करने की मनाही है। ऐसा CRPC की धारा 144 लगने के चलते किया गया था। इसके बाद भी कांग्रेस सांसदों ने विरोध प्रदर्शन जारी रखा जिसके बाद उन्हें हिरासत में ले लिया गया। सोनिया गांधी से ईडी एक तरफ पूछताछ कर रही थी उधर राहुल गांधी अपने एक के बाद एक ट्वीट से केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साध रहे थे।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...