1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. एक आलमारी में रखे मिले इतने करोड़ रुपये नोट, देखने वाले रह गए दंग, जानें कैसे हुई इस चोरी का खुलासा

एक आलमारी में रखे मिले इतने करोड़ रुपये नोट, देखने वाले रह गए दंग, जानें कैसे हुई इस चोरी का खुलासा

आयकर विभाग (Income Tax Department) ने हैदराबाद (Hyderabad ) में एक फार्मास्युटिकल ग्रुप (pharmaceutical group) की तलाशी ली है। आपको बता दें कि इस छापेमारी में विभाग को कैश के अलावा जमीन की खरीद के लिए इस्तेमाल पैसे के भुगतान के सबूत भी मिले। कई अन्य गड़बड़ियों की भी पहचान की गई है।

By Amit ranjan 
Updated Date

नई दिल्ली : देश में किसी तरह की वित्तीय लेन-देन में गड़बड़ी के कारण आयकर विभाग लगातार अपनी निगाहें अन्य कंपनियों, संस्थाओं या कंपनी या विभाग में काम करने वाले कर्मचारियों पर अपनी निगाहें टिकाएं रखती है। जिससे वे अगर किसी तरह की वित्तीय गड़बड़ी करें तो उन्हें कठोर सजा देने के साथ ही वित्तीय लेन-देन में गड़बड़ी को लेकर भी कड़े जुर्माने का प्रावधान है। आपको बता दें कि एक ऐसे ही घटना का खुलासा हैदराबाद में आयकर विभाग ने की है।

आपको बता दें कि आयकर विभाग ने हैदराबाद (Hyderabad ) में एक फार्मास्युटिकल ग्रुप (pharmaceutical group) की तलाशी ली है, जिसमें लगभग 143 करोड़ रुपए कैश और 550 करोड़ रुपए की बेहिसाब आय का पता चला है। इसे लेकर एजेंसी ने 6 अक्टूबर को तलाशी और जब्ती अभियान शुरू किया और 6 राज्यों में लगभग 50 जगहों पर छापे मारे थे। विभाग ने कहा कि ये फार्मास्युटिकल समूह इंटरमीडिएट, एक्टिव फार्मास्युटिकल प्रोडक्ट (एपीआई) और फॉर्मूलेशन का काम करता है। अधिकांश प्रोडक्ट का निर्यात विदेशों यानी यू.एस.ए, यूरोप, दुबई और अन्य अफ्रीकी देशों में किया जाता है।

क्या-क्या सबूत मिले?

तलाशी के दौरान एजेंसी (Income Tax Department raids) ने उन ठिकाने की पहचान की जहां बही-खातों और कैश रखा गया था। इस दौरान डिजिटल प्रूफ, पेन ड्राइव सहित कई सबूत जुटाए गए। एजेंसी ने फर्जी और गैर-मौजूद संस्थाओं से की गई खरीद में गड़बड़ी और खर्च को लेकर इस केस की छानबीन की, जिसके बाद मामले का खुलासा हुआ।

6 अक्टूबर को चलाया था तलाशी अभियान

एजेंसी (Pharmaceutical Group raids) ने कहा कि, कैश के अलावा जमीन की खरीद के लिए पैसे के भुगतान के सबूत भी मिले। कई अन्य गड़बड़ियों की भी पहचान की गई है। व्यक्तिगत खर्चों को कंपनी की किताबों में शामिल किया गया था। संबंधित पक्षों ने सरकारी रजिस्ट्रेशन रेट से कम कीमत पर जमीन खरीदी। एजेंसी के मुताबिक, हैदराबाद में फार्मास्युटिकल ग्रुप (Hetero pharmaceutical group) पर 6 अक्टूबर को तलाशी अभियान चलाया गया था। इस दौरान अबतक 550 करोड़ रुपए की आय का पता लगाया गया। अघोषित आय का पता लगाने के लिए जांच जारी है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...