1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. गणतंत्र दिवस 2020, दुनिया ने देखी राजपथ पर भारत की शक्ति

गणतंत्र दिवस 2020, दुनिया ने देखी राजपथ पर भारत की शक्ति

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

71वें गणतंत्र दिवस के मौके पर दिल्ली का राजपथ देश की सैन्य शक्ति औऱ बहुरंगी सांस्कृतिक छटा का गवाह बना। यहां भारतीय सेना की वीरता, साहस, पराक्रम और शौर्य की झलक देखने को मिली तो भारत की सांस्कृतिक विविधता की झांकियों ने दुनियाभर के लोगों को चकाचौंध कर दिया। इस मौके पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और पीएम मोदी के साथ गणतंत्र दिवस के लिए भारत के मुख्य अतिथि ब्राजील के राष्ट्रपति जायर मेसियस बोल्सोनारो राजपथ पर मौजूद रहे।

परंपरा के मुताबिक परेड की शुरूआत राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद द्वारा तिरंगा फहराने और राष्ट्रगान की समाप्ति के बाद हुई। हलांकि,  इस बार पीएम मोदी ने 48 साल से चली आ रही एक परंपरा को भी तोड़ दिया। उन्होंने इस बार इंडिया गेट पर अमर जवान ज्योति पर नहीं बल्कि राष्ट्रीय युद्धक स्मारक पर शहीदों को श्रद्धांजलि दी।

परेड के दौरान कैप्टन तान्या शेरगिल ने राजपथ पर दहाड़ लगाकर देश की स्त्री शक्ति का अहसास कराया, तो पहली बार परेड में शामिल चीनूक और अपाचे हेलिकॉप्टर ने भारतीय सेना की बढ़ती ताकत का प्रदर्शन किया। दोनों ने आसमान में उड़ान भरी तो अत्याधुनिक युद्धक विमान राफेल की प्रतिकृति भी दिखाई। वहीं विभिन्न मंत्रालय और राज्यों की झाकियों ने भी दर्शकों का मन मोह लिया।

वहीं भारत की सैन्य शक्ति का प्रदर्शन हुआ तो हर भारतीय का सीना गर्व से चौड़ा हो गया। एक ओर -45 डिग्री सेल्सियस तापमान में और 18, 700 फीट की ऊंचाई पर तैनात हमारे जवानों ने मार्च किया तो उसका आकर्षण देखने लायक था। कैप्टन तान्या शेरगिल के नेतृत्व में तीव्र चौकस आदर्श वाक्य वाले कॉर्प्स ऑफ सिग्नल का दल राजपथ पर आगे बढ़ा तो दर्शकों ने उनकी जोरदार तालियों से स्वागत किया। एयरफोर्स की युद्धक क्षमता का परिचय देने के लिए राफेल, तेजस, आकाश मिसाइल का भी प्रदर्शन हुआ।

वायु रक्षा सामरिक नियंत्रण रेडार का भी प्रदर्शन हुआ। यह विशाल वायु की निगरानी में विभिन्न हवाई लक्ष्यों का पता लगाना, शत्रु या मित्र की पहचान, कमांड सेंटर तक डेटा पहुंचाने जैसे कई महत्वपूर्ण काम करता है। इसे मैदान, पहाड़, रेगिस्तान में पूर्व चेतावनी के लिए तैनात किया जा सकता है।

टी-90 टैंक भीष्म का भी प्रदर्शन किया गया। लेजर गाइड मिसाइल से लैस भीष्म रात में 5 किलोमीटर की दूरी से निशाना साधने में सक्षम, पानी में भी संचालन की क्षमता रखता है।

इन्फेंट्री कॉम्बेट वीइकल आईसीवी बीएमपी-2 रात में चार किलोमीटर की दूरी से अज्ञात दुश्मनों पर भी हमला करने की क्षमता रखता है। यह जल और जमीन दोनों से दुश्मनों पर हमला करने वाला दुनिया के सर्वोंतम लडाकू विमान में से एक है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...